lenskart-launches-lenskart-vision-fund-to-invest-in-startups

लोकप्रिय आई-वियर ब्रांड Lenskart ने अब एक ‘लेंसकार्ट विजन फंड‘ (Lenskart Vision Fund) बनाया है। इस फ़ंड का मक़सद है आईवियर, आई-केयर और ओम्निचैनल रिटेल सेक्टर के लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकनें वाले स्टार्टअप्स में निवेश करना।

लेकिन Lenskart बतौर निवेशक अपनी इस पारी में मूलतः कैसे स्टार्टअप्स में निवेश करेगा? कितना निवेश करेगा? और ये डील दोनों पक्षों के लिए फ़ायदेमंद कैसे साबित होंगी? आइए इन सभी सवलों के जवाब जानते हैं!

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

Lenskart Vision Fund: Amount?

बता दें कंपनी इस फंड के ज़रिए चुने गए स्टार्टअप्स में से हर एक में $2 मिलियन तक का निवेश करती नज़र आएगी।

startup-funding-hindi-news

और सिर्फ़ आर्थिक मदद ही नहीं, बल्कि Lenskart भारत, सिंगापुर, पश्चिम एशिया और अमेरिका में अपने क़रीब 700 रिटेल स्टोर्स और ऑनलाइन चैनलों के ज़रिए चुनिंदा स्टार्टअप्स में बाजार तक पहुंचनें में मदद भी करेगा।

Lenskart Vision Fund: Categories?

इस फ़ंड के ज़रिए निवेश को लेकर कंपनी कुछ चुनिंदा क्षेत्रों पर फ़ोकस करेगी, जिनमें डायरेक्ट-टू-कस्टमर (D2C) आईवियर और आई केयर ब्रांड, विजन केयर के लिए तकनीक, आंखों की जांच तकनीक, लॉजिस्टिक्स में ओमनीचैनल रिटेल सॉल्यूशंस, सप्लाई चेन, मर्चेंडाइजिंग, मार्केटिंग, इन-स्टोर ऑटोमेशन, रिटेल और ई-कॉमर्स के लिए डीप टेक सॉल्यूशंस आदि शामिल हैं।

इस नई शुरुआत को लेकर Lenskart के संस्थापक और सीईओ, Peyush Bansal ने कहा;

“हमने एक यूनिकॉर्न बनने तक के सफ़र के लिए बतौर स्टार्टअप कई सारी चुनौतियों का सामना किया है। हम मानतें हैं कि यह समय है कि अब हम ईकोसिस्टम को कुछ वापस दें और बेहतरीन उद्यमियों को स्केलेबल बिज़नेस बनाने में मदद करें।”

“तकनीकी रूप से डायरेक्ट-टू-कस्टमर (D2C) बिज़नेस के निर्माण और विस्तार में एक दशक के अपने अनुभव और अपनी विशेषज्ञता के साथ हम अन्य स्टार्टअप्स को भी विश्व स्तरीय बिज़नेस खड़ा करने में मदद कर सकते हैं।”

दिलचस्प ये है कि 2010 में शुरू की गई Lenskart की सीनियर लीडरशिप टीम चयनित होने वाले स्टार्टअप्स को मार्गदर्शन (मेंटर) भी देती नज़र आएगी।

ज़ाहिर है Lenskart अपने विज़न फंड के लिए ईको-सिस्टम में संभावनाओं से भरे ऐसे शुरुआती स्तर के स्टार्टअप्स की तलाश कर रहा है, जो उसके मूल व्यवसाय को भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से विकास में मदद कर सकें।