bgmi-tiktok-may-return-to-india-soon

TikTok India comeback amid new IT rules? एक बार फिर से टिकटॉक (TikTok) की भारत में वापसी को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं। सामने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारत के नए आईटी नियमों (New IT Rules) के चलते TikTok India अपनी वापसी को लेकर उम्मीद बाँधता नज़र आ रहा है।

असल में भारत के नए आईटी नियम और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाईडन (Joe Biden) के द्वारा पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के अमेरिका में टिकटॉक (TikTok) पर बैन लगाने के ऑर्डर को रद्द करने के कदम के बाद, TikTok पर मालिकाना हक़ रखने वाली कंपनी, ByteDance Inc. को भारत में उम्मीद की किरण नज़र आ रही है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

ग़ौर करने वाली बात ये है कि ईटी की एक हालिया एक रिपोर्ट के अनुसार बाइटडांस (ByteDance) ने जून के महीनें की शुरुआत में देश के आईटी मंत्रालय को एक चिट्ठी लिखी और उसमें ये बताया कि भले TikTok India अपना संचालन नहीं कर रहा हो, लेकिन इसके बाद भी वह पहले से नई इंटरमीडियरी गाइडलाइंस का पूरा पालन  कर रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार इस पत्र को लिखने के बाद अब चीन की दिग्गज़ सोशल मीडिया कंपनी ByteDance मंत्रालय की ओर से जवाब मिलने की आस लगाए बैठे है।

ये साफ़ कर दें कि इसको लेकर अभी तक कोई आधिकारिक जवाब भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा सार्वजनिक रूप से नहीं दिया गया है और न ही मंत्रालय ने इस पर कोई टिप्पणी की है।

भारत में अभी भी रोज़गार दे रहा है ByteDance (TikTok India)

दिलचस्प ये है कि भारत में अपना संचालन बैन होने के बाद भी कंपनी फ़िलहाल भारत में क़रीब 1,000 लोगों को रोजगार दे रही है, जिनमें से कुछ दक्षिण पूर्व एशिया जैसे अन्य बाजारों के लिए काम कर रहे हैं और कुछ भारत में वापसी की रणनीति पर।

TikTok India Comeback – क्या कहते हैं New IT Rules, 2021?

भारत सरकार द्वारा पेश किए गए नए आईटी नियमों में सबसे अहम ये है कि सरकार ने 50 लाख से अधिक यूज़र्स वाले सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों को तमाम तरीक़े की शिकायतों का निपटारा करने के लिए कम से कम तीन अहम पदों पर आधिकारियों की नियुक्ति की बात कही है।

पहला है ‘चीफ कंप्लायंस ऑफिसर’, जो ये सुनिश्चित करेगा कि सभी ऐक्ट और नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं? दूसरा है ‘नोडल कॉन्टैक्ट पर्सन’, जिसका काम होगा देश की कानून संबंधी एजेंसियों से संपर्क बनाए रखना।

और तीसरा है ‘रेजिडेंट ग्रीविएंस ऑफिसर’, जो कंपनी में आई शिकायतों के निपटारे के लिए ज़िम्मेदार होगा और उस पर 24 घंटे में कार्रवाई सुनिश्चित करेगा। सबसे अहम ये है कि इन आधिकारियों को भारत में ही रहना होगा।

अब सूत्रों के अनुसार TikTok India के पास पहले से ही ऐसे कुछ पदों पर आधिकारियों की नियुक्ति की गई थी और जो भारत में ही रह रहें हैं, जैसे सम्भवतः रेजिडेंट ग्रीविएंस ऑफिसर आदि।

tiktok-eyes-india-comeback-with-new-it-rules

यहाँ समझने वाली बात ये है कि पिछले साल भारत और चीन के बीच सीमा पर बढ़े विवाद के बाद सरकार ने इन तमाम चीनी ऐप्स को देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा बताते हुए बैन करने का कदम उठाया था। लेकिन कहा ये जा रहा है कि बीते कुछ समय में भारत और चीन के बीच व्यापार भागीदारियाँ फिर से बढ़ती नज़र आ रही हैं और ऐसे में टेक आधारित इन ऐप ईकोसिस्टम को भी थोड़ी उम्मीद बँधी है।

अक्सर जानकार कहतें हैं कि इन बैन हुई कम्पनियों का ये भी तर्क रहा है कि आईटी नियमों आदि का सख़्ती से पालन करवाने के बाद भी अगर चीन से प्राप्त आर्थिक सहयोग के आधार पर कंपनी को बैन किया जाता है, तो ऐसे में कई ऐसे भारतीय स्टार्टअप्स पहले से ही देश में अपना संचालन कर रहें हैं, जिन्हें कई बड़े चीनी निवेशकों से काफ़ी मात्रा में फ़ंडिंग मिली हुई है।

इन सब के बीच Reuters की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ अमेरिकी के वाणिज्य विभाग ने TikTok और WeChat के ख़िलाफ़ लगे प्रतिबंधों की फिर से समीक्षा कर रहा है कि क्या वाक़ई इनसे देश को ख़तरा है और इन्हें बैन करना चाहिए? याद दिला दें इन ऐप्स के डाउनलोड को अमेरिका में प्रतिबंधित करने सम्बंधित ट्रम्प प्रशासन के आदेश को राष्ट्रपति Joe Biden ने इस महीने वापस ले लिया था।