pm-narendra-modi-on-vivatech-about-startups-and-innovation-in-india
Credit: Wikimedia Commons

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज बुधवार को यूरोप के सबसे बड़े डिजिटल और स्टार्टअप प्रोग्राम में से एक, वीवाटेक (VivaTech) के पांचवें संस्करण में अपना संबोधन दिया। इस मौक़े पर पीएम मोदी ने ज़ोर देते हुए कहा कि भारत इनोवेटर्स और इन्वेस्टर्स की सभी सम्भव मदद देगा।

आपको बता दें VivaTech प्रोग्राम में पीएम मोदी (PM Modi) के साथ कई देशों की दिग्गज़ नेता और दुनिया की नामी कंपनियों के अधिकारी भी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री ने वर्चूअल तरीक़े से कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाते हुए सबको संबोधित किया।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

इस मौक़े पर पीएम मोदी ने दुनिया भर के लीडर्स से भारत में पाँच पिलर्स के भरोसे निवेश करने के लिए आमंत्रित किया, जिनमें शामिल हैं – प्रतिभा, बाजार, पूंजी, ईको-सिस्टम और खुलेपन की संस्कृति।

PM Modi on VivaTech: स्टार्टअप क्षेत्र में भारत की क़ाबिलियत

इस बात में कोई शक नहीं है कि भारत मौजूदा समय में दुनिया भर में एक मज़बूत तकनीक और स्टार्टअप केंद्रित देश के रूप में अपनी साख बना चुका है। और इसी बात पर ज़ोर देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत दुनिया के सबसे बड़े स्टार्टअप इकोसिस्टम में से एक है। और हाल के वर्षों में देश से कई यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स निकले हैं।

लेकिन इस बीच प्रधानमंत्री मोदी ने एक दिलचस्प बात कही;

“भारत वह सब प्रदान करता है जो इनोवेटर्स और इन्वेस्टर्स को चाहिए।”
“भारत आज 1.18 बिलियन मोबाइल फोन और 775 मिलियन इंटरनेट यूजर्स का गढ़ हैं और दुनिया में सबसे ज्यादा और सबसे सस्ते डेटा की खपत करने वाले देशों में से एक है।”

पीएम मोदी ने कहा कि ‘जब कन्वेंशन फेल हो जाता है तो इनोवेशन ही काम आता है।’ साथ ही उन्होंने यह भी याद दिलाया कि कैसे भारत ने आरोग्य सेतु के जरिए प्रभावी रूप से कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग को अपनाया है और CoWin ऐप के ज़रिए कैसे देशवासियों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जा रहा है।

बता दें VivaTech का 5वां संस्करण 16 जून से 19 जून के बीच होना है। साल 2016 से ही हर साल फ्रांस की राजधानी पेरिस में इसका आयोजन किया जा रहा है।

vivatech-5th-edition-india-pm-narendra-modi
VivaTech Guest Speakers

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी के अलावा  फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज सहित कई यूरोपीय देशों के प्रतिनिधि नज़र आएँगें।

साथ ही कंपनियों की बात करें तो Apple के सीईओ टिम कुक, Facebook के सीईओ मार्क जुकरबर्ग, और Microsoft से ब्रैड स्मिथ जैसे दिग्गज़ भी प्रोग्राम में शामिल होंगें।