airtel-conducts-india-first-5g-testing-in-the-700-mhz-band-with-nokia

Airtel Gurugram 5G Testing: इस बात में कोई शक नहीं है कि भारत में एक ओर जहाँ तेज इसे किफ़ायती 5G फ़ोन बाज़ार में जगह बनाने लगे हैं, वहीं टेलीकॉम कंपनियों ने भी इसको लेकर अपनी कमर कस ली है। इसी कड़ी में एयरटेल (Airtel) ने अब गुरुग्राम में 5G नेटवर्क की टेस्टिंग की शुरुआत कर दी है।

जी हाँ! साइबर हब कहे जाने वाले शहर गुरुग्राम में Airtel ने Ericsson के साथ मिलकर सोमवार को अपने 5G नेटवर्क ट्रायल का आग़ाज़ किया। पीटीआई के हवाले से ये भी सामने आया है कि इस ट्रायल के शुरुआती आँकड़े बेहद दिलचस्प रहे।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

Airtel – First company to start 5G testing in India

ग़ौर करने वाली बात ये है कि गुरुग्राम में इस ट्रायल से पहले ही Airtel के नाम पर भारत में 5G टेस्टिंग की शुरुआत करने वाली पहली कंपनी का ख़िताब दर्ज हो चुका है। कैसे?

इसी साल जनवरी में, Airtel ने हैदराबाद में कमर्शियल नेटवर्क पर “LIVE 5G सेवा” की सफ़ल टेस्टिंग का दावा किया था। तब Airtel ने ये भी बताया था कि इसके लिए कंपनी ने 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड में एक स्पेक्ट्रम ब्लॉक का इस्तेमाल किया।

airtel-5g-test-gurugram

एयरटेल ने NSA (Non-Standalone) तकनीक का इस्तेमाल कर हैदराबाद में “समान स्पेक्ट्रम ब्लॉक के भीतर 5G और 4G [नेटवर्क] को ऑपरेट करके” ये सफ़लता हासिल की थी।

Airtel Gurugram 5G Network Testing

ख़ैर! अब बात गुरुग्राम में हुए इस नए 5G ट्रायल की करें तो, Airtel का ये 5G ट्रायल 3500Mhz मिडिल बैंड स्पेक्ट्रम पर किया जा रहा है। और ये कहने की ज़रूरत नहीं है कि डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन (DoT) ने देश में 5G ट्रायल को लेकर को नियमों तय किए थे, टेस्टिंग उसी के हिसाब से चल रही है।

तमाम रिपोर्ट्स के मुताबिक़ Airtel ने इस 5G नेटवर्क टेस्टिंग के दौरान 1Gbps से अधिक की थ्रूपुट (डेटा ट्रांसफ़र की दर) स्पीड दर्ज की है।

मई में मिली थी मंज़ूरी

दूरसंचार विभाग (DoT) ने इस 4 मई, 2021 को 5G टेस्टिंग के लिए Reliance Jio, Bharti Airtel, Vodafone-Idea (Vi), MTNL को मंजूरी दी थी। इसके तहत एयरटेल को चार भारतीय टेलिकॉम सर्कल्स में टेस्टिंग स्पेक्ट्रम अलॉट किए गए हैं, जिनमें मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरू और दिल्ली शामिल हैं।

एक तरफ़ Airtel को जहाँ 5G ट्रायल स्पेक्ट्रम में 3500 MHz, 28 GHz और 700 MHz बैंड अलॉट हुआ, वहीं Reliance Jio और Vi (Vodafone-Idea) को 700 MHz, 3.5 GHz और 26 GHz बैंड अलॉट हुए हैं।

इस बीच 5जी टेस्टिंग की मंज़ूरी के दौरान ये साफ़ कर दिया गया था कि इसमें कोई भी टेलीकॉम किसी भी चीनी टेक्नोलॉजी या कंपनी या OEMs को शमिल नहीं करेगी। लेकिन अधिकतर टेलीकॉम कंपनियों के लिए बिना Original Equipment Manufacturers (OEMs) के साथ मिलकर 5G Test को अंजाम देना मुश्किल है।

इसलिए एक ओर 5G Trial के लिए Reliance ने अपनी ख़ुद की स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल करने की बात कही है, वहीं अन्य टेलीकॉम कंपनियाँ Ericsson, Nokia, Samsung, और C-DOT के साथ मिलकर काम करती नज़र आएँगी।

उम्मीद ये है कि Reliance 24 जून को दोपहर 2 बजे से होने वाली अपनी 44वीं रिलायंस एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) 2021 के दौरान Jio 5G की लॉन्च या रोलआउट संबंधित जानकारी प्रदान कर सकती है।