twitter-now-in-compliance-with-it-rules-indian-govt-tells-court

Twitter Job Posting: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) ने अपनी वेबसाइट व LinkedIn पर नए आईटी नियमों के तहत अब चीफ़ कंप्लायंस ऑफिसर (Chief Compliance Officer) व अन्य पदों के लिए जॉब पोस्टिंग की है।

पिछले काफ़ी समय से तमाम मुद्दों पर सरकार से साथ सीधी खींचातान में शामिल इस माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म ने अपनी वेबसाइट पर चीफ़ कंप्लायंस ऑफिसर, रेजिडेंट ग्रीविएंस ऑफिसर और नोडल कॉन्टैक्ट ऑफ़िसर जैसे पदों के लिए जॉब पोस्ट की है।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

कुछ ही हफ़्तों पहले ट्विटर इंडिया ने ये साफ़ किया था कि भारत सरकार द्वारा मिले अल्टीमेटम के बाद भारत के नए आईटी नियमों का पालन करने के लिए कंपनी हर संभव प्रयास कर रही है।

असल में सरकार ने कुछ हफ़्ते पहले एक लिखित पत्र में ट्विटर को नए दिशानिर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा था, और वॉर्निंग दी थी कि अगर कंपनी इसका पालन नहीं करती तो उसको आईटी अधिनियम की धारा 79 के तहत दिए गए बिचौलिये’ का टैग ख़त्म करते हुए, इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगें।

twitter-job-opening-posting

Twitter Job Posting: क्या है नए नियम?

भारत सरकार ने नए आईटी नियमों, 2020 के तहत देश में 50 लाख से अधिक यूज़र्स वाले सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों को देश के भीतर तीन आधिकारी नियुक्त करेंगें होंगें।

इसमें पहला है चीफ कंप्लायंस ऑफिसर, जो ये सुनिश्चित करेगा कि सभी ऐक्ट और नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं? दूसरा है नोडल कॉन्टैक्ट पर्सन, जिसका काम कानून संबंधी एजेंसियों से जुड़े रहने का होगा।

वहीं तीसरा है रेजिडेंट ग्रीविएंस ऑफिसर, जो कंपनी में आई शिकायतों के निपटारे के लिए ज़िम्मेदार होगा। इसके साथ ही सोशल मीडिया कंपनी को शिकायत को लेकर 24 घंटे में कार्रवाई सुनिश्चित करनी होगी। और एक निश्चित समय के बाद सरकार को रिपोर्ट भी देनी होगी।

इसके पहले ट्विटर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली भारत सरकार के साथ मनिप्युलेटेड मीडिया (Manipulated Media) केस को लेकर भी संघर्ष करता नज़र आया है, जिसको लेकर कंपनी के दफ़्तर तक में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दस्तक दी थी। इसके बाद ट्विटर ने भारत में अपने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर भी चिंता जताई थी।