twitter-blue-tick-is-back-on-vice-president-m-venkaiah-naidu-personal-account

Blue Tick is back on Vice President M. Venkaiah Naidu’s Account : शनिवार को सुबह-सुबह ही माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म ट्विटर (Twitter) ने देश के उपराष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू के पर्सनल ट्विटर अकाउंट को Unverified करते हुए, अकाउंट से ‘ब्लू टिक’ हटा दिया था, लेकिन अब फिर से उनके अकाउंट को ब्लू टिक कर दिया गया है।

जी हाँ! ऐसा लगता है कि ट्विटर और भारत सरकार के बीच विवादों का सिलसिला थमनें का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को ट्विटर ने वेरिफ़िकेशन बैच को वापस लेने के अपने अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए भारत के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया के पर्सनल व्यक्तिगत ट्विटर हैंडल, @MVenkaiahNaidu से ब्लू टिक हटाया था।

ऐसी तमाम ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए जुड़ें हमारे टेलीग्राम चैनल से!: (टेलीग्राम चैनल लिंक)

लेकिन शनिवार क़रीब सुबह 10.45 बजे के लगभग ट्विटर ने अब वापस से वापस से उपराष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू के पर्सनल ट्विटर अकाउंट को Verified करते हुए, अकाउंट को ‘ब्लू टिक’ कर दिया है।

साफ़ कर दें कि भारत के उपराष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट/हैंडल, @VPSecretariat पर ब्लू टिक मौजूद रहा, और वो वेरिफ़ाईड ही है।

Blue Tick Is back on @ M Venkaiah Naidu

ट्विटर की मानें तो प्लेटफ़ॉर्म पर अकाउंट्स को दिया जाने वाला वेरिफ़िकेशन बैच यानि ब्लू टिक ये दर्शाता है कि ये अकाउंट प्रामाणिक है।

इस ब्लू टिक को प्राप्त करने के लिए आपका अकाउंट प्रामाणिक, उल्लेखनीय और सक्रिय होना चाहिए। इसके ज़रिए क्योंकि यूज़र कि पहचान सत्यापित हो जाती है, इसलिए उस अकाउंट से किए गए पोस्ट पर अन्य यूज़र्स का विश्वास बढ़ता है।

twitter-removes-blue-badge-from-vice-president-venkaiah-naidus-personal-account

इस वेरिफ़िकेशन को प्राप्त करने के लिए क़रीब 6 तरह की कैटेगॉरी को योग्य माना जाता है। मतलब ये कि सरकारी कंपनियों, ब्रांड और गैर-लाभकारी संगठन, समाचार संगठन और पत्रकार, मनोरंजन, खेल और ई-स्पोर्ट्स, एक्टिविस्ट, आयोजक और अन्य प्रभावशाली व्यक्तियों को वेरिफ़िकेशन की सुविधा मिलती है।

लेकिन इस बीच जैसे ही उपराष्ट्रपति के पर्सनल अकाउंट से ब्लू टिक हटने की खबर आई तो देश भर में ये बात तेज़ी से फैल गई और लोगों की मिली-जूली प्रतिक्रिया देखने को मिली। इस बीच भाजपा के कुछ नेताओं ने इस पर सवाल भी उठाया और इसको भारत के संविधान पर हमला तक बता डाला था।

कब ट्विटर हटाता है ब्लू टिक?

अगर आप ट्विटर (Twitter) की पॉलिसी को देखेंगें तो उसके अनुसार, यदि कोई वेरिफ़ाईड अकाउंट अपने हैंडल का नाम (@handle) बदलता हैं, या किसी का अकाउंट अधूरा हो जाता है, या फिर वो यूज़र अब उस पोस्ट पर नहीं है, जिसकी वजह से उसके अकाउंट को वेरिफ़ाई किया गया था, या अन्य कुछ स्थितियों में ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक हटा सकता है।

इसके साथ ही ट्विटर उन अकाउंट से भी वेरिफ़िकेशन बैज को हटा सकता है जो ट्विटर के नियमों का बार-बार उल्लंघन करते हुए पाए जाते हैं, या फिर ट्विटर पर लोगों को जानबूझकर गुमराह कर रहें होते हैं। ऐसी मामलों में ट्विटर अकाउंट बंद तक कर देता है।

Twitter has restored verified badge (blue Tick) of Vice President of India M. Venkaiah Naidu (@MVenkaiahNaidu)

लेकिन भारत के उपराष्ट्रपति के व्यक्तिगत ट्विटर हैंडल पर अब ब्लू टिक फिर से वापस कर दिया गया है, पर हो सकता है कि सरकार इसके लिए ट्विटर से स्पष्टीकरण माँग सकती है।

कुछ ही दिनों पहले हमनें भाजपा नेता द्वारा किए गए एक ट्वीट को ट्विटर द्वारा मनिप्युलेटेड मीडिया (Manipulated Media) टैग के साथ लेबल करने के बाद, ट्विटर इंडिया के ऑफ़िसों में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा कथित छापेमारी को भी देखा था। जिसके बाद कंपनी ने भारत में अपने कर्मचरियों की सुरक्षा को लेकर चिंता तक व्यक्त की थी।