paytm-aims-to-raise-rs-12000-cr-with-fresh-shares-in-ipo

Paytm IPO Before November?:  हाल ही में ही देश के फ़िनटेक क्षेत्र के सबसे बड़े नामों में से एक पेटीएम (Paytm) ने भारत के सबसे बड़े संभावित आईपीओ (IPO) प्लान को लेकर ख़ूब सुर्ख़ियाँ बटोरीं थी और अब ऐसी ख़बरें हैं कि कंपनी ने बोर्ड ने इस प्लान पर मुहर लगा दी है।

जी हाँ! सामने आई रिपोर्ट में सूत्रों के अनुसार बताया गया है कि नोएडा आधारित, पेटीएम के बोर्ड ने शुक्रवार को एक मीटिंग के दौरान इस आईपीओ प्लान को सैद्धांतिक मंज़ूरी दे दी है।

Paytm Board Clears IPO Plan?

ईटी की एक रिपोर्ट में अब तमाम सूत्रों के हवाले से ये बात सामने लाई गई है कि कंपनी जुलाई तक बाजार नियामक ‘भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड’ (सेबी/SEBI) में इसको लेकर ड्राफ़्ट दायर कर सकती है।

साथ ही दिलचस्प रूप से ये भी सामने आया है कि पेटीएम एक सेकेंडरी शेयर सेल को लेकर भी विचार कर रही है, जिसके चलते आईपीओ से पहले कंपनी में मौजूदा निवेशकों की हिस्सेदारी घट सकती है।

हम साफ़ कर दें कि अभी तक इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है और इस रिपोर्ट में भी महज़ सूत्रों के मुताबिक़ भी कुछ जानकरियों का ख़ुलासा किया गया है। लेकिन माना ये जा रहा है कि शायद चीनी कंपनी Alibaba Group, जापानी कंपनी SoftBank और Elevation Capital (जिसको पहले SAIF Partners के नाम से जाना जाता था) कंपनी में अपनी हिस्सेदारी कम करते नज़र आ सकते हैं।

paytm-board-clears-ipo-plan
Credit: Wikimedia Commons | Paytm IPO Before November?

ऐसे देखा जाये तो लगता है होता है कि आईपीओ प्लान के चलते कंपनी के मौजूदा बड़े निवेशक अपनी अपनी हिस्सेडरि के अनुपात के अनुसार ही अपने शेयर को कम करते नज़र आ सकते हैं।

ये सब इसलिए भी दिलचस्प हो जाता है क्योंकि कुछ ही दिनों पहले आई ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट की मानें तो Paytm जल्द ही $3 बिलियन (लगभग ₹22,000 करोड़) का निवेश हासिल करते हुए कंपनी की वैल्यूएशन को $25 बिलियन से $30 बिलियन (लगभग ₹1.80 लाख करोड़ से ₹2.20 लाख करोड़) तक पहुँचाने का प्रयास कर सकता है।

पर सूत्र बताते हैं की मौजूदा समय में $16 बिलियन की वैल्यूएशन वाली कंपनी की वैल्यूएशन को कई बड़े इन्वेस्टमेंट बैंकर्स $20 बिलियन तक आँक रहें हैं।

Paytm IPO Before November: इन इन्वेस्टमेंट बैंकों की ले सकता है मदद

Paytm ने IPO को लेकर काम शुरू करने के लिए कुछ इन्वेस्टमेंट बैंकों जैसे मोर्गन स्टेनली (Morgan Stanley), जेपी मोर्गन (JP Morgan) के साथ ही Axis Capital, ICICI Securities और SBI Capital की भी मदद ले सकता है।

बता दें विजय शेखर शर्मा द्वारा साल 2009 में शुरू की गई पेटीएम अब तक तामम बड़े-छोटे निवेशकों से कुल $2.8 बिलियन तक का निवेश हासिल कर चुकी है।

क्या कहते हैं आईपीओ को लेकर सेबी के नियम?

चलिए अब थोड़ी बात भारत के मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) के आईपीओ (IPO) संबंधित नियम की करते हैं। सेबी के एक नियम के अनुसार आईपीओ दायर करने वाली कंपनी को पहले 2 साल में 10% हिस्सा पब्लिक करना होता है और फिर कंपनी को अगले 5 साल में इसको बढ़ाकर 25% करना होता है। सीधा सा मतलब ये कि आईपीओ के कुछ सालों बाद, प्रमोटर्स या निवेशक कंपनी में ज्यादा से ज्यादा कुल 75% हिस्सा ही अपने पास रख सकते हैं।