twitter-india-gets-last-chance-to-comply-with-new-it-rules

Twitter India Employees Safety?: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा ट्विटर इंडिया (Twitter India) के ऑफ़िस में दस्तक देने के बाद ट्विटर ने अब एक बड़ा बयान जारी किया है। कंपनी के अनुसार वह अपने भारतीय कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित है।

इसको लेकर ट्विटर के प्रवक्ता की ओर से एक गंभीर बयान जारी करते हुए कहा गया है कि कंपनी नई दिल्ली  स्थित ऑफ़िस में “पुलिस द्वारा डराने-धमकाने की रणनीति का इस्तेमाल” करने को लेकर चिंतित है।

तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ट्विटर प्रवक्ता ने साफ़ शब्दों में कहा;

“हाल ही की घटनाओं को देखते हुए हम भारत में अपने कर्मचारियों और अपने यूज़र्स की अभिव्यक्ति की आज़ादी के लिए संभावित खतरे को लेकर चिंतित हैं।”

Twitter says ‘concerned’ about ‘safety’ of employees in India

आपको बता दें सत्तारूढ़ पार्टी, बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा के टूल-किट (Toolkit) संबंधित एक ट्वीट को प्लेटफ़ॉर्म ने ‘मनिप्युलेटेड मीडिया‘ (Manipulated Media) के रूप में टैग कर दिया था। जिसके बाद बीजेपी सरकार ने सोमवार को दिल्ली पुलिस को इस माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म के कंट्री हेड को नोटिस देने के लिए उनके ऑफ़िस भेजा।

असल में दिल्ली पुलिस की कार्रवाई का सीधे जिक्र किए बिना ट्विटर ने कहा कि कंपनी भारत और दुनिया भर में प्लेटफ़ॉर्म के वैश्विक नियमों को लागू करने की एवज़ में पुलिस आदि द्वारा धमकाने की रणनीति के इस्तेमाल को लेकर चिंतित है।

twitter-headquarter-on-delhi-police-raids-twitter-indias-offices-over-congress-toolkit-row

इस बीच ट्विटर फरवरी से भारत सरकार के साथ कई मुद्दों को लेकर विवाद में रहा है। कुछ ही महीनों पहले मोदी सरकार के आईटी मंत्रालय ने देश में किसानों के विरोध से संबंधित आलोचना को कथित रूप से दबाने के लिए प्लेटफ़ॉर्म को कुछ कंटेंट और अकाउंट को ब्लॉक करने के लिए कहा था।

क्या है नए आईटी नियमों को लेकर ट्विटर की राय?

दिलचस्प ये है कि इसके साथ ही अब ट्विटर भी उन बड़ी अंतराष्ट्रीय कंपनियों और संगठनों की लिस्ट में शामिल हो गया है, जो खुले तौर पर भारत द्वारा लाए नए नई आईटी नियमों / क़ानूनों की आलोचना कर रहें हैं और इन नए नियमों को “सार्वजनिक बातचीत की आज़ादी को लेकर ख़तरा बता रहें हैं।”

लेकिन इतना साफ़ कर दिया गया है कि इन नियमों में बदलाव की वकालत करते हुए सहयोग की दृष्टि से ट्विटर इंडिया भारत सरकार के साथ अपनी बातचीत जारी रखेगा।

Twitter जहाँ नए आईटी नियमों के कुछ प्रावधानों पर बदलाव चाहता है, वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इसने नए नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए सरकार से 3 महीनों का वक़्त और माँगा है।

ट्विटर हेडक्वार्टर रख रहा है भारत कि स्थिति पर नज़र

इन तमाम विवादों के बीच सामने आई कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक़ मीडिया अमेरिका स्थित ट्विटर हेडक्वार्टर अब अपने ग्लोबल डिप्टी जनरल काउंसलर और वीपी (लीगल), जिम बेकर (Jim Baker) को भारत की स्थिति का जायज़ा लेने की ज़िम्मेदारी सौंप सकता है। जिम बेकर एक पूर्व एफबीआई (FBI) अधिकारी रह चुके हैं।