india-active-internet-users-population-to-hit-90-crores-2025

Call vs Chat | Young Indians: आज के समय युवाओं और स्मार्टफ़ोन के बीच के रिश्ते को बयाँ करने की ज़रूरत शायद ही पड़े। लेकिन एडवांस होते स्मार्टफ़ोन्स के साथ ही युवाओं के बीच कम्यूनिकेशन के ज़रिए भी बढ़ते जा रहे हैं, जिसने अब कॉल (Call), एसएमएस (SMS), वीडियो कॉल (Video Call) से ऑडियो चैट (Audio Chat) तक का सफ़र तय कर लिया है।

और आजकल अक्सर आपने युवाओं के बीच एक विषय पर बातचीत होते ज़रूर सुना होगा और वो है कॉल या चैट (Call vs Chat)?

chat-vs-call-survey

कई बार ऐसा होता है कि हमारा कॉल का मूड नहीं होता और हम चाहते हैं कि चैट ही कर ली जाए? या कई बात इसके उलट भी होता है, जैसे हम चैट पर टाइप करने से बचने के लिए कॉल करना ज़्यादा पसंद करते हैं।

लेकिन कभी न कभी एक सवाल ज़रूर मन में आता है कि इस Call vs Chat के विषय पर अधिकतर लोगों का क्या मत है? क्या आप भी जानना चाहते हैं?

तो जनाब इसका उत्तर मिल चुका है, असल में कॉन्वर्सेशनल मार्केटिंग मीडिया प्लेटफ़ॉर्म, Bobble AI ने हाल ही में एक स्टडी रिलीज़ की है, जिसके अनुसार भारतीय युवा फ़ोन पर कॉल करने के बजाए चैट करना अधिक पसंद करते हैं।

इस रिसर्च को Nielsen द्वारा संचालित किया गया, जिसमें जेन जेड और मिलेनियल्स पर एक अध्ययन किया गया, जो विभिन्न मैसेजिंग ऐप पर चैट आदि के ज़रिए कम्यूनिकेशन करते हैं।

इस रिसर्च में शामिल युवाओं में से क़रीब 50% ने चैट (Chat) के विकल्प को चुना, वहीं 37% ने ऑडियो कॉलिंग (Audio Call) और 13% ने वीडियो कॉलिंग (Video Call) को प्राथमिकता दी।

Call vs Chat: सर्वे में कौन रहे शामिल?

ये स्टडी या कहें तो रिसर्च पांच महानगरों और छह गैर-मेट्रो शहरों में 18 से 40 वर्ष की आयु वर्ग के 900 लोगों के फ़ीडबैक के आधार पर किया गया।

बात करें Bobble AI की तो यह एक स्थानीय डिजिटल मीडिया मार्केटिंग प्लेटफ़ॉर्म है, जिसको SAIF Partners, Affle, सचिन बंसल, बिन्नी बंसल और दीप कालरा  जैसे निवेशकों द्वारा समर्थित है।

Call vs Chat: सर्वे में क्या आया सामने?  

इस बीच इस स्टडी में शामिल यूजर्स में से 83% ने कहा कि वे दिन में कई बार चैटिंग करते हैं। दिलचस्प रूप से हर 10 में से 7 यूजर्स ने कहा कि पिछले छह महीने में उनकी चैटिंग एक्टिविटी बढ़ी है।

असल में इस बात में कोई दोहराय नहीं है किचैटिंग से यूजर्स एक साथ मल्टी-टास्किंग कर पाते हैं, और शायद यह युवाओं द्वारा इसके पसंद किए जाने की एक बड़ी वजह है।

इस बीच रिसर्च में ये भी सामने आया कि चैटिंग करने वाले क़रीब 68% युवा अपनी भावनाएं ज़ाहिर करने के लिए Emojis का इस्तेमाल करते हैं। वहीं अच्छा इंटरनेट रखने वाले अधिकतर युवा स्टिकर्स और GIFs का इस्तेमाल भी खूब करते हैं।

वहीं ये भी सामने आया कि चैटिंग के दौरान क़रीब 60% महिलाएं और 45% पुरुष Emoji का इस्तेमाल करते हैं, मतलब ये कि Emojis के इस्तेमाल के मामले में महिलाएँ पुरुषों से आगे हैं।