food-ordering-on-zomato-swiggy-to-get-costlier-from-january-1-2022

Zomato + Grofers: शायद आपको याद हो कि पिछले साल फ़ूड डिलीवरी दिग्गज़ Zomato और ग्रोसरी स्टार्टअप Gorfers के मर्जर (विलय) की ख़बरें सामने आई थी, जो बाद में वास्तविकता का रूप नहीं ले सकीं। लेकिन अब इन दोनों कंपनियों को लेकर एक और खबर सामने आई है।

जी हाँ! खबर ये है कि Zomato अब अपने ऑनलाइन ग्रोसरी डिलीवरी सेगमेंट में उतरने की इच्छा को पूरा करने के मक़सद से Grofers में क़रीब $100 मिलियन (लगभग ₹700 करोड़) का निवेश कर सकती है।

आपको बता दें ये खबर ईटी की एक रिपोर्ट के ज़रिए सामने आई है, जिसमें सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि IPO दायर कर रहा Zomato एक बड़े निवेश दौर का हिस्सा बनकर क़रीब $1 बिलियन की वैल्यूएशन पर गुरुग्राम आधारित Grofers में निवेश कर सकता है।

zomato-may-invest-in-grofers
Credits: Grofers Blog

इस रिपोर्ट की मानें तो मौजूदा हालतों को देखते हुए Zomato की ऑनलाइन ग्रोसरी सेगमेंट में हाथ आज़माने की इच्छा और मज़बूत हो गई है, लेकिन कंपनी ख़ुद का कोई नया ब्रांड खड़ा करने के बजाए, मौजूदा किसी ई-ग्रोसर कंपनी के साथ साझेदारी करना चाहती है। और ज़ाहिर सी बात है जब बात ई-ग्रोसर की हो तो Grofers को नज़रंदाज़ नहीं किया जा सकता है।

Zomato + Grofers: पिछले साल उठी थी अटकलें

आपको बता दें पिछले साल लॉकडाउन लगने के कुछ ही दिनों बात क़रीब अप्रैल 2020 में ही ऐसी ख़बरें सामने आई थीं कि Zomato जल्द ही Grofers के अधिग्रहण का ऐलान कर सकता है।

लेकिन उस वक़्त लॉकडाउन जैसी स्थिति के बीच Grofers ने अचानक तेज़ी से बढ़ी माँग को देखते हुए कंपनी में भारी निवेश किया और अपना पूरा ध्यान उसी में लगाया।

इस बीच इसके पहले से ही यह भी मीडिया रिपोर्ट्स सामने आई थीं कि Grofers नए सिरे से फंडिंग दौर के लिए Softbank के साथ बातचीत कर रहा है।

और तो और एक हालिया खबर के मुताबिक़ Grofers अब अमेरिका के Nasdaq स्टॉक एक्सचेंज में इन-लिस्ट होने के अवसर की तलाश कर रहा है। आपको बता दें Zomato ने भी हाल हाई में IPO दायर करने हेतु SEBI में दस्तावेज सबमिट किए हैं।

इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि महामारी शुरू होने के बाद से ही देश भर में बने लॉकडाउन जैसे हालातों के बीच ऑनलाइन ग्रोसरी सुविधा की माँग तेज़ी से बढ़ी है और दिलचस्प ये है कि ये माँग टियर-1 शहरों ही नहीं बल्कि देश के टियर-2 और टियर-3 इलाक़ों से भी दर्ज की गई है।

वहीं हाल ही में RedSeer की Online Grocery: What Brands Need To Know नामक एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में ऑनलाइन ग्रोसरी बाजार,2019 में $1.9 बिलियन GMV (सकल व्यापारिक मूल्य) का था, जो 2020 में बढ़कर $3 बिलियन GMV तक हो गया है।