uber-india-asks-drivers-to-ensure-seatbelts-on-back-seats-work

Uber India 2021 Business Report: इस बात में कोई शक नहीं है कि कोविड-19 की दूसरी लहर ने भारत के कई मार्केट सेगमेंट्स को काफ़ी नुक़सान पहुँचाया है, जिनमें से कैब बिज़नेस को नज़रंदाज़ नहीं किया जा सकता है। और इसी बात पर अब मुहर लगाते हुए बुधवार को अमेरिकी कैब सेवा प्रदाता Uber के सीईओ ने एक यह साफ़ किया है कि दुबारा से भारत में बढ़ते कोविड-19 के मामलों के चलते Uber India के बिज़नेस पर काफ़ी नकारात्मक प्रभाव पड़ा है।

देश में संक्रमण के मामले कितनी तेज़ी से बढ़ रहें हैं इसका आंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बुधवार यानि 5 मई को ही देश ने एक दिन में रिकॉर्ड 4 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए हैं।

इन्हीं हालातों के बीच देश भर के अधिकांश हिस्सों में लॉकडाउन जैसी स्थिति है और जिसकी वजह से लोगों का जीवन और बिज़नेस दोनों प्रभावित हो रहा है।

Uber India के लिए 2021 की पहली तिमाही रही निराशाजनक

सैन फ्रांसिस्को आधारित Uber ने भारत में अपनी इस स्थिति का ख़ुलासा इस साल की पहली तिमाही की कमाई संबंधित मीटिंग के दौरान किया।

इस दौरान Uber India को लेकर Uber के सीईओ दारा खोस्रोशाही (Dara Khosrowshahi) ने कहा;

“भारत में तेज़ी से बढ़ते संक्रमण के मामले और नए सिरे से एक बार फिर लॉकडाउन जैसे हालातों ने देश के मोबिलिटी सेगमेंट पर बुरा प्रभाव डाला है।”

ग़ौर करने वाली बाटे ये है कि कंपनी के सीईओ के अनुसार Uber India की स्थिति अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, ताइवान और हांगकांग जैसे अन्य बाजारों की तुलना में बेहद ख़राब है। असल में अन्य बाज़ारों में Uber पिछले साल की स्थिति के मुक़ाबले तेज़ी से वापस अपने बिज़नेस को पटरी पर लाने में कामयाब नज़र आ रहा है

uber-offers-free-rides-worth-rs-150-covid-19-vaccination-bengaluru

Uber 2021: India के साथ ही कंपनी की पहली तिमाही में कुल कमाई 

Uber की मानें तो अप्रैल 2019 की तुलना में अप्रैल 2021 के महीने के लिए अमेरिका में बुकिंग 62% तक वापसी करते नज़र आ रही है। वहीं ब्रिटेन में इस अवधि के दौरान कुल बुकिंग तुलनात्मक रूप से 80% तक की रिकवरी करते नज़र आ रही है।

दिलचस्प ये है कि Uber ने इन बाज़ारों में अपने बिज़नेस की रिकवरी के लिए तेज़ी से हो रहे वैक्सिनेशन को वजह बताया है।

इस बीच Uber के अनुसार मार्च में समाप्त होने वाली इस तिमाही में उसके तमाम प्लेटफॉर्म पर कुल बुकिंग 24% की सालाना दर से बढ़कर $19.5 बिलियन का आँकड़ा छूने में कामयाब रहीं।

इसके साथ ही इस अवधि के दौरान कंपनी के फ़ूड डिलीवरी बिज़नेस ने बुकिंग के लिहाज़ से $12.5 बिलियन का कारोबार किया है। लेकिन अगर सिर्फ़ कैब बुकिंग सेवा की बात करें तो प्लेटफ़ॉर्म ने इस बीती तिमाही में 38% की गिरावट दर्ज की है, लेकिन इसके विपरीत Uber Eats की बुकिंग दोगुनी से अधिक हो गई।

कंपनी ने 2021 की पहली तिमाही में $2.9 बिलियन का राजस्व कमाया है, जिसके बाद इसका शुद्ध घाटा घटकर सिर्फ $108 बिलियन रह गया। आपको बता दें 2020 की आख़िरी तिमाही की तुलना में Uber का कुल घाटा क़रीब $968 मिलियन कम हुआ है।

Uber India 2021: कंपनी ने बढ़ाए हैं देश में मदद के हाथ

अभी कुछ ही समय पहले Uber India ने ये ऐलान किया था कि वह भारत में 150,000 ड्राइवर्स के पहले बैच के वैक्सिनेशन के लिए खर्च क़रीब ₹18.5 करोड़ की आर्थिक मदद देगा।

इसके तहत Uber India में अपने ड्राइवर पार्टनर्स को वैध डिजिटल वैक्सीनेशन सर्टिफ़िकेट दिखाने पर हर एक को वैक्सीन के दो शॉट्स के लिए ₹400 की मदद देगा। साथ ही जो Uber ड्राइवर 30 अप्रैल से पहले वैक्सीन लगवा चुके हैं, वह भी इस आर्थिक मदद को हासिल कर सकते हैं।

इसके पहले इसी साल मार्च में Uber ने लोगों को अपने नज़दीक वैक्सीन केंद्र (Vaccine Centers) से आने-जाने में मदद करने के लिए ₹10 करोड़ की फ़्री राइड सेवा का भी ऐलान किया था।