swiggy-announces-four-day-work-weeks-in-may

महामारी का सीधा असर लोगों के पर्सनल और प्रोफ़ेशनल दोनों स्तर पर दिख रहा है। इसका एक उदाहरण हाल ही में और सामने आया है। असल में फ़ूड डिलीवरी स्टार्टअप Swiggy ने अब यह ऐलान किया है कि मई के महीने में इसके कर्मचारियों को सिर्फ़ 4 दिन काम करने यानि 4-Day Work Weeks सिस्टम लागू कर रहा है।

इस बात का ख़ुलासा कंपनी ने एचआर डिपार्टमेंट ने शनिवार को कर्मचारियों को लिखे एक ई-मेल में किया। यह कदम असल में इस मुश्किल की घड़ी में कर्मचारियों को शारीरिक व मानसिक रूप से सपोर्ट प्रदान करना है।

कंपनी के अनुसार कर्मचारी इस वक़्त अपने बीमार परिवार वालों या दोस्तों या साथियों की मदद आदि के साथ ही साथ काम के ज़्यादा बोझ से परेशान न हों इसलिए ऐसा किया जा रहा है।

इसके साथ ही दिलचस्प यह है कि Swiggy के कर्मचारियों को इस 4-Day Work Weeks की योजना के तहत यह चुनने की भी सुविधा होगी कि वे कौन से चार दिन काम करना चाहते हैं।

असल में Swiggy का ये 4-Day Work Weeks प्लान ऐसे वक्त में आया है जब जानकार और कई रिपोर्ट्स ये दावा कर रही हैं कि मई के मध्य तक कोरोना की इस लहर का पीक देखने को मिल सकता है।

आपको बता दें भारत में पिछले सात दिनों में 26 लाख से अधिक नए मामले और लगभग 23,800 मौतें दर्ज की गईं हैं, जो एक सप्ताह में सबसे अधिक आँकड़ा बनता है।

Swiggy 4-Day Work Weeks

ईटी की एक रिपोर्ट के अनुसा, इस नए ऐलान के बारे में Swiggy के एचआर प्रमुख गिरीश मेनन ने लिखा;

“मई के महीने में सबसे अधिक मामलों के आने की संभावना को देखते हुए Swiggy ने ये 4-Day Work Weeks का मॉडल पेश किया है।”

“कर्मचारियों को हफ़्ते के किन्ही भी चार दिन काम करने की सहूलियत मिलेगी और बाक़ी दिन वह आराम करने, अपना व अपनों का ख्याल रखने में इस्तेमाल कर सकते हैं।”

इसके साथ ही आपको बता दें Swiggy ने कर्मचारियों की मदद के लिए एक टास्क फ़ोर्स भी बनाया है। और साथ ही Swiggy ने कहा कि यह ग्रेड 1 से 6 तक के कर्मचारियों का मई का वेतन जल्दी देगा और साथ ही इस श्रेणी के कर्मचारियों के परिवार में अगर कोई कोविड पॉज़िटिव होता है तो उन्हें पोषण सहायता राशि भी दी जाएगी।

swiggy-announces-four-day-work-weeks

इसके साथ ही कोविड-19 आपात स्थितियों से निपटने के लिए कंपनी ने कर्मचारियों के लिए आईसीयू और ऑक्सीजन सिलेंडर जैसी मदद पहुँचाने के लिए एक आपातकालीन सहायता टीम भी बनाई है।

इसके साथ ही अपने कर्मचारियों को वेतन लाभ या लोन आदि अन्य लाभों को भी कंपनी प्रदान कर रही है। दिलचस्प यह है कि सिर्फ़ Swiggy ही नहीं बल्कि पिछले कुछ हफ्तों में भारत की कई टॉप टेक कंपनियों व स्टार्टअप्स ने अपने कर्मचारियों और उनके परिवारों को चिकित्सा आपात स्थिति से निपटने व आर्थिक मदद देने के लिए कई कदम उठाए हैं।

साथ ही साथ कई कंपनियों ने कर्मचारियों और उनके आश्रितों के लिए टीकाकरण अभियान की भी घोषणा की है। भारत जो हर कंपनी के लिए एक अहम बाज़ार में से एक है, एक बहुत ही बड़े संकट से गुजर रहा है और ऐसे में हर एक मदद अहम हो जाती है।