money-rupee

पुणे आधारित ग्रामीण क्षेत्रों के लिए काम करने वाले किराना कॉमर्स प्लेटफ़ॉर्म ElasticRun ने यह जानकारी दी है कि स्टार्टअप ने अपने सीरीज़-डी फ़ंडिंग राउंड में क़रीब ₹550 करोड़ (~ $75 मिलियन) हासिल किए हैं।

ElasticRun के लिए इस निवेश दौर का नेतृत्व Avataar Ventures, Prosus Ventures, और Kalaari Capital ने किया।

कंपनी के अनुसार, प्राप्त किए गए इस नए निवेश के ज़रिए कंपनी की कोशिश ग्रामीण बाजारों में अपनी पहुंच को बढ़ाने की होगी, जिससे बड़े उपभोक्ता ब्रांड, फ़ूड ब्रांड और ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म के लिहाज़ से किराने की दुकानों को बढ़ावा दिया जा सके।

कुल निवेश $132 मिलियन के पार

इस नए सीरीज़-डी राउंड के साथ ही ElasticRun द्वारा अब तक जुटाया गया कुल निवेश $132 मिलियन तक पहुँच गया है। इसके पहले 2019 में कंपनी ने Prosus Ventures और Avataar के नेतृत्व में अपने सीरीज़-सी राउंड के तहत $40 मिलियन का निवेश हासिल किया था।

इस बीच नए निवेश के साथ ही ElasticRun के सह-संस्थापक और सीईओ संदीप देशमुख ने कहा;

“पिछले 18 महीनों में हमारे उपभोक्ता उत्पादों और ग्रामीण किराने की दुकानों में फ़ूड बिज़नेस सेगमेंट में अप्रत्याशित वृद्धि दर्ज की गई है। महामारी के चलते कई बड़े ब्रांडों का ध्यान ग्रामीण बाजारों की ओर गया है और हमारे मॉडल के ज़रिए हम उन्हें असल वैल्यू प्रदान कर रहें हैं।”

आपको बता दें साल 2020 के बाद से ही (जब से देश में लॉकडाउन जैसे हालातों ने जन्म लिया है) स्टोर नेटवर्क और ईकॉमर्स बिज़नेस में तेज़ी से वृद्धि देखी जा रही है।

ऐसे शुरू हुआ ElasticRun का सफ़र

2016 में संदीप देशमुख, सौरभ निगम और शितिज़ बंसल द्वारा शुरू किया गया ElasticRun भारत के 300 से अधिक शहरों में अपना संचालन कर रहा है और क़रीब 125,000 से अधिक रिटेल दुकानों के साथ काम कर रहा है।

pune-kirana-commerce-startup-elasticrun
Credit: Elastic.Run

इसी कड़ी में कंपनी के अनुसार वह अपने लॉजिस्टिक्स और ट्रांजैक्शन प्लेटफॉर्म के माध्यम से देश भर में अपनी पहुंच को बढ़ाने की कोशिश कर रही है और अपने प्लेटफ़ॉर्म पर क्रेडिट और एनालिटिक्स जैसी नई बेहतर क्षमताओं को भी शामिल कर रही है।

ElasticRun को ये पूरी उम्मीद है कि साल 2021 उनके लिए सबसे बड़े और अहम सालों में से एक होगा और अगले 12 महीनों में वह अपने बिज़नेस को तीन गुना से अधिक बढ़ा सकेंगें।

आपको बता दें ElasticRun का मौजूदा राजस्व क़रीब $350 मिलियन का बताया जाता है और अनुमान ये लगाया जा रहा है कि कंपनी आगामी 12 महीनों में $1 बिलियन से अधिक का आँकड़ा पार करती नज़र आएगी।

ये कंपनी अपने पोर्टफ़ोलियो में 100 से अधिक ब्रांडों को शामिल किए हुए हैं, जिनमें कुछ बड़े FMCG ब्रांड जैसे HUL, P&G, ITC, Marico, Britannia, Colgate, Nivea, Patanjali, और Dabur तक शामिल हैं।