google-startup-school-india

इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर के चलते देश भर में हालात बदतर होते जा रहे हैं। और अब ऐसी ही स्थितियों को देखते हुए तमाम दिग्गज़ कंपनियाँ भारत की मदद के लिए आगे आ रही हैं। और इसमें अब नया नाम जुड़ा है Google का, जिसने देश में महामारी से निपटने के लिए चिकित्सा आपूर्ति और आदि में अपना सपोर्ट करने के लिए ₹135 करोड़ की मदद का वादा किया है।

असल में देश भर के कोने-कोने से हॉस्पिटल बेड, हेल्थकेयर इन्फ्रास्ट्रक्चर, उपकरण और ऑक्सीजन की भारी कमी की रिपोर्ट सामने आ रही हैं और हालात ये हैं कि लगातार पांचवें दिन 3 लाख से अधिक मामले देश भर में दर्ज किए गए हैं।

इस ₹135 करोड़ के फ़ंड का ऐलान करते हुए Google के वर्तमान सीईओ, सुंदर पिचाई ने सोमवार को एक ट्वीट किया और यह भी बताया कि इसमें Google.org के ज़रिए भी दो ग्रांट के ज़रिए मदद की जा रही है।

इन दोनों ग्रांट में कुल राशि ₹20 करोड़ की है, इसमें से पहला GiveIndia और दूसरा UNICEF के लिए होगा, जिसके ज़रिए चिकित्सा आपूर्ति की खरीद और महामारी से प्रभावित परिवारों की मदद की जाएगी।

Google ने भारत को कुछ यूँ दिया है ₹135 करोड़ का फ़ंड

Google ने अपने एक आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में बताया;

“कंपनी प्रभावित लोगों को उनके रोजमर्रा के खर्चों में मदद करने के लिए के लिए पैसों के ज़रिए मदद करेगी।”

इसके अलावा UNICEF Google के ज़रिए मिली इस मदद से ऑक्सीजन और टेस्टिंग किट सहित अन्य ज़रूरी उपकरण की ख़रीद कर तत्काल चिकित्सा आपूर्ति को लेकर मदद करेगा, जिसकी वाक़ई भारत को बेहद ज़रूरत है।

आपको बता दें इस फ़ंड में वो पैसे भी शमिल हैं जो Google के कर्मचारियों ने मदद के लिए चल रहे कैम्पेन को सपोर्ट करने के लिए दान किए हैं। कंपनी की मानें तो अब तक Google के 900 से अधिक Googlers (कर्मचारियों) ने इस मुश्किल घड़ी में प्रभावितों की मदद करने वाले संगठनों को सपोर्ट करने के लिए ₹3.7 करोड़ ($500,000) का योगदान दिया है।

इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य कैम्पेंस के लिए इस फ़ंड में Ad Grant को अधिक रखा गया है, मतलब क़रीब ₹135 करोड़ का 83% तक, जिसके ज़रिए कंपनी लोगों को कोविड-19 महामारी के बारे में जागरूक और शिक्षित करने का काम करेगी।

1 comment

Comments are closed.