razorpay-hits-valuation-of-3bn-with-a-160mn-fundraise-hopes-to-public-in-the-future

मानों वो दिन पास आ रहा है जब भारतीय स्टार्टअप्स ही ग्लोबल स्तर पर स्टार्टअप ईकोसिस्टम का नेतृत्व करते नज़र आएँगें। और इस बार का एहसास निवेशकों को भी हो चुका है। और इसलिए वह लगातार भारतीय स्टार्टअप्स में तेज़ी से निवेश कर रहे हैं, जिसमें अब नया नाम जुड़ा है Razorpay का।

बैंगलोर आधारित 6 साल पुराने पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर, Razorpay ने अपने सीरीज़-ई राउंड में $160 मिलियन (क़रीब ₹1200 करोड़) का फ़ंड हासिल किया है।

लेकिन इससे भी दिलचस्प बात ये है कि इस नए निवेश के साथ ही कंपनी की वैल्यूएशन $3 बिलियन के पार चली गई है। और एक और ख़ास बात ये है कि Razorpay असल में अमेरिकी सीड फ़ंड स्टार्टअप ऐक्सेलरेटर Y Combinator द्वारा समर्थित पहला भारतीय स्टार्टअप है, जिसने पिछले साल ही $1 बिलियन की वैल्यूएशन दर्ज करने में सफ़लता पाई थी।

इस सीरीज़-ई राउंड से पहले कंपनी ने पिछले साल अक्टूबर में सीरीज-डी राउंड में $100 मिलियन जुटाए थे और अपनी वैल्यूएशन को $1 बिलियन से अधिक के आँकड़े तक पहुँचाने में कामयाब रही थी।

फ़िलहाल इस नए $160 मिलियन (क़रीब ₹1200 करोड़) के इस नए फ़ंडिंग दौर में अधिकांश कंपनी के मौजूदा निवेशक ही शामिल रहे, जैसे GIC, Sequoia Capital India आदि। लेकिन इनके साथ ही कुछ नए निवेशक जैसे Ribbit Capital ने भी इस निवेश दौर में हिस्सा लिया।

Razorpay की सुविधाएँ

आपको बता दें शुरुआत में अमेरिका व अन्य विकसित बाज़ारों में अपनी सेवाएँ देने वाले Stripe के विकल्प के तौर पर लॉन्च हुए Razorpay में विशेष रूप से छोटे व्यवसायों आदि के लिए पेमेंट ऐक्सेप्ट करने, प्रॉसेस करने आदि जैसी तमाम सहूलियत उपलब्ध हैं। इतना ही नहीं बल्कि कंपनी नियोबैंकिंग (जो कॉर्पोरेट क्रेडिट कार्ड जारी करने की सहूलियत देता है), ऑटोमेटिक वेंडर पेमेंट और जीएसटी चालान तक की सुविधा देता है। इसके साथ ही ये स्टार्टअप को बिज़नेस कैपिटल भी प्रदान करता है।

ग़ौर करने वाली बात ये है कि Paytm और PhonePe के बाद Razorpay फिनटेक सेगमेंट में तीसरी सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है।

इसके साथ ही आज Razorpay 50 लाख से अधिक कंपनियों को अपनी सेवाएँ प्रदान कर रहा है, जिसमें छोटी से लेकर बड़ी कंपनियाँ तक शामिल हैं। इन कंपनियों में Airtel, CRED, Facebook, Swiggy, और Ola जैसे नाम शामिल हैं।

कंपनी के अनुसार इसका नियो-बैंकिंग प्लेटफ़ॉर्म, Razorpay X पहले से ही कुछ 15,0000 ग्राहकों की संख्या छू चुका है। और दूसरी ओर छोटे व नए बिज़नेसों को कैपिटल प्रदान करने वाला इसका व्यवसाय, Razorpay Capital अब तक $80 मिलियन बाँट चुका है।

इस बीच ऐसा माना जा रहा है कि अगर आगामी समय में कंपनी आगे भी ऐसे ही बढ़ती रही तो जल्द ही यह IPO की तैयारी कर सकती है। पिछले छह महीनों से इस कंपनी ने 40-50 प्रतिशत की मासिक वृद्धि दर्ज की है।