google-five-tips-to-spot-fake-news-online-international-fact-checking-day

इस बात में कोई शक नहीं है कि ऑनलाइन कंटेंट जितनी तेज़ी से बढ़ रहा है, उतनी ही तेज़ी से ग़लत सूचनाएँ या कहें तो फ़ेक न्यूज़ भी बढ़ती जा रही है। अब से सिर्फ़ पेशेवर फ़ैक्ट-चेकर्स ही नहीं, बल्कि कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन फ़ेंक न्यूज़ की पहचान कर सकेगा। जी हाँ! और Fake News पहचानने का तरीक़ा अब ख़ुद टेक दिग्गज़ Google ने बताया है।

2 अप्रैल को अंतर्राष्ट्रीय तथ्य जाँच दिवस (International Fact Checking Day) से पहले, Google ने कहा कि वह सभी यूज़र्स को ऑनलाइन विश्वसनीय जानकारी प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

असल में कंपनी का कहना है कि वह अन्य संगठनों के साथ भी फ़ैक्ट शेयर करती है ताकि फ़ैक्ट चेकिंग को आसान बनाते हुए लोगों को सबूतों के साथ ख़बरों आदि की पुष्टि या खंडन करने का मौक़ा दिया जा सके।

Google पर चेक करें Fake News

इस बीच Google असल में फ़ैक्ट चेक कैसे करता है? ये बताने के लिए कंपनी ने अपने सपोर्ट पेज में लिखा है कि अगर किसी पब्लिशर द्वारा किया गया फैक्ट चेक कुछ आवश्यकताओं को पूरा करता है, तो Google स्वतः ही एल्गोरिथम द्वारा निर्धारित उस फैक्ट चेक का सारांश दिखाता है।

साथ ही फ़ैक्ट चेक्स से संबंधित कंटेंट में आपको उन दावों के बारे में जानकारी मिलनी चाहिए, जिनकी जाँच की गई हो, साथ ही उन दावों के बारे में निष्कर्ष और वो इस नतीजे पर कैसे पहुँचे इस बारे में भी बताना चाहिए। साथ ही सूचना के प्राथमिक सोर्स के बारे में भी जानकारी मिलनी चाहिए।

Google News की टीम ने बताया Fake News पहचानने का तरीक़ा

इसको लेकर Google News की समाचार और सूचना विश्वसनीयता टीम की Alexios Mantzarlis ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा कि पिछले एक साल में Google Search पर 50,000 से अधिक नए फ़ैक्ट चेक्स सामने आए हैं। और इन सभी फ़ैक्ट चेक्स ने इतने समय के अंदर ही 2.4 बिलियन से अधिक इंप्रेशन हासिल किए हैं।

अब बात कि आप कैसे किसी फ़ेक न्यूज़ आदि की पहचान कर सकते हैं? असल में इसके लिए Google ने अलग से सपोर्ट पेज पर कुछ टिप्स शेयर किए हैं।

Spot Fake News: Tips by Google

  • सोर्स के बारे में अधिक जानकारी इक्कठा करें (Find out more about the source): 

Google पर कोई यूज़र किसी आर्टिकल (लेख) के पब्लिशर या वेबसाइट के बारे में उस आर्टिकल के दाईं ओर दिए गए तीन बिंदुओं पर क्लिक करके अधिक जानकारी हासिल कर सकता है। लेकिन फ़िलहाल ये टूल सिर्फ़ अमेरिका में उपलब्ध है।

  • तस्वीरों की जाँच करें कि वह सही है या नहीं? (Check if an image is authentic):

अक्सर WhatsApp या Facebook पर कई ऐसे तस्वीरें नज़र आती हैं जो वास्तविक नहीं होतीं हैं, और सिर्फ़ आपको गुमराह करने के लिए एडिट करके बनाई गई या अधूरी जानकारी के साथ पेश की गई होती हैं।

इसके लिए यूज़र किसी तस्वीर पर राइट-क्लिक करके और “Search Google for Image” का चयन करके ये पता कर सकते हैं कि वह तस्वीर प्रामाणिक है या नहीं? साथ ही अगर आप मोबाइल पर ऐसे चेकिंग करना चाहते हैं तो तस्वीर को टच और होल्ड करके भी ऐसा कर सकते हैं। Google Search के ज़रिए ये पता लगेगा कि क्या ये तस्वीर पहले कहीं ऑनलाइन नज़र आई है या इसका कोई संदर्भ पहले से ऑनलाइन मौजूद है?

  • एक से अधिक सोर्स की तलाश करें (Look for more than one source):

Google का कहना है कि यूज़र्स किसी भी न्यूज़ की जाँच करने के लिए Google Search पर News Mode का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर वो किसी ख़बर के बारे में Google News पर जाकर सीधे सर्च कर सकते हैं। ऐसा करके यूज़र ये पता कर सकते हैं की कोई ख़बर किन किन न्यूज़ आउटलेट द्वारा कवर की गई है और उन पूर्ण कवरेज को क्लिक करके पढ़ा भी जा सकता है।

spot_fake_new_tips_by_google

  • गूगल के ‘फ़ैक्ट चेकर’ टूल का इस्तेमाल करें (Use Google’s fact-checker):

Google यूज़र्स Keyword में टाइप कर, Google द्वारा सूचीबद्ध न्यूज़ पब्लिशर और फ़ैक्ट चेकर्स के ज़रिए सूचना आदि दावों की जाँच कर सकते हैं। साथ ही अगर यूज़र Fact Check Explorer में एक विषय के लिए एक विस्तृत ढंग से फ़ैक्ट चेकिंग कर सकते हैं। बता दें Fact Check Explorer Google के अनुसार दुनिया भर के प्रतिष्ठित प्रकाशकों में से 100,000 से अधिक फ़ैक्ट चेक्स को कलेक्ट किए हुए हैं।

Google_Fact_Check_Explorer

  • गूगल मैप का इस्तेमाल करके (Using Google Maps):

यूज़र किसी स्थान पर हुई कथित घटना से जुड़ी हुई तस्वीर की पुष्टि करने के लिए Google Maps पर Google Earth या Street View का इस्तेमाल कर सकते हैं।

तो कुछ इस तरह आप इंटरनेट पर नज़र आने वाली संदेहपूर्ण ख़बर की जाँच ख़ुद ही करके इस फ़ेक न्यूज़ की पहचान कर सकते हैं और उसको फैलने से रोक सकते हैं।