NPCI-UPI-App
Credit: BHIMUPI.org.in

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने 15 मार्च, 2021 को अपने यूपीआई पेमेंट ऐप BHIM (Bharat Interface for Money) पर ‘UPI Help‘ नामक नया फ़ीचर लाइव किया है।

यह नई सुविधा असल में NPCI के Digi-Help प्रोग्राम के तहत पेश की गई है, जिसका मक़सद BHIM UPI ऐप उपयोगकर्ताओं को यूपीआई पेमेंट के दौरान आने वाली विभिन्न समस्याओं को लेकर उन्हें मदद प्रदान करना और यूज़र्स को एक टेन्शन फ़्री ऐप एक्सपीरियेंस देने का है।

UPI Help की मदद से, उपयोगकर्ता UPI लेनदेन के लिए अपने BHIM UPI ऐप का उपयोग करके ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं और साथ ही पर्सन-टू-पर्सन (P2P) ट्राज़ैक्शन के लिए भी ऑनलाइन शिकायत कर समाधान पा सकते हैं।

इसकी मदद से BHIM UPI यूज़र्स ऐप पर ही अपने ‘पेंडिंग पेमेंट‘ का स्टेटस पता कर सकेंगें, या फिर प्रॉसेस न हुए पेमेंट को लेकर भी शिकायत दर्ज करवा सकेंगे।

BHIM UPI Help में फ़िलहाल ये बैंक हैं शामिल

आपको बता दें शुरू के लिए NPCI ने BHIM UPI ऐप पर UPI-Help सुविधा को भारतीय स्टेट बैंक (SBI), एक्सिस बैंक (Axis Bank), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) और टीजेएसबी सहकारी बैंक (TJSB Sahakari Bank) के ग्राहकों के लिए लाइव की है।

npci-launches-upi-help
Credit: BHIMUPI.org.in

लेकिन NPCI ने ये भी साफ़ कहा है कि ये UPI Help सुविधा जल्द से जल्द अन्य बैंकों के ग्राहकों के लिए भी BHIM ऐप पर उपलब्ध करवा दी जाएगी।

NPCI के अनुसार भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) की समस्या समाधान तंत्र शुरू करने की पहल से ग्राहकों के बीच डिजिटल पेमेंट को अपनाने और कैशलेस दिशा में बढ़ने को लेकर विश्वास पैदा होगा।

साथ ही NPCI की मानें तो अन्य बैंक भी ग्राहक सुरक्षा पर केंद्रित डिजिटल पेमेंट तंत्र को मजबूत बनाने के लिए UPI-Help को लागू करने को लेकर अपनी कमर कस रहे हैं।

असल में UPI पेमेंट बीते कुछ समय से भारत में काफ़ी तेज़ी से लोकप्रिय हुआ है और Google Pay, Paytm, PhonePe, BHIM आदि प्लेटफ़ॉर्म देश में इस पेमेंट सिस्टम को बढ़ावा देने में अहम योगदान दे रहे हैं।

इस साल की शुरुआत के आँकड़ो को देखे तो नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने फ़रवरी में ये जानकारी दी कि साल 2021 जनवरी के महीने में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के माध्यम से क़रीब ₹4.3 ट्रिलियन (₹4,31,181 करोड़) के 2.3 बिलियन से अधिक लेनदेन दर्ज किए गए हैं।

असल में जनवरी 2021 के इन आँकड़ो की तुलना अगर दिसंबर 2020 के UPI के आँकड़ो से करें तो वॉल्यूम (यानि कुल लेनदेन) में 3% की बढ़ोतरी हुई थी, वहीं लेनदेन के मूल्य में क़रीब 3.6% की बढ़त दर्ज की गई थी।

PhonePe दिसंबर 2020 में UPI लेनदेन की संख्या के मामले में सबसे अधिक बाज़ार हिस्सेदारी हासिल करने में कामयाब रहा था और इसने Google Pay को टॉप स्थान से हटा दिया था।

PhonePe ने दिसंबर 2020 में ₹182,126.88 करोड़ के 902.03 मिलियन लेनदेन दर्ज किए थे, जबकि Google Pay ने 854.49 मिलियन लेनदेन दर्ज किए थे, जिनका मूल्य क़रीब ₹176,199.33 करोड़ था।