WhatsApp-Traceability

भारत में एक बार फिर से क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य धुँधला होता नज़र आ रहा है। नई रिपोर्ट्स के मुताबिक़ भारत सरकार (Govt. of India) जल्द ही देश में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) पर बैन (Ban) लगा सकती है।

जी हाँ! सरकार क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग, माइनिंग और इसको रखने वालों पर जुर्माना भी लगा सकती है।

असल में न्यूज़ एजेंसी Reuters की एक रिपोर्ट में सरकारी सूत्रों के हवाले से ये बात सामने आई है कि सरकार क्रिप्टोकरेंसी को रखने वालों और इसकी ट्रेडिंग व माइनिंग करने वालों पर भारी जुर्माना लगाने व जेल की सजा तक के प्रावधान लाने की तैयारी में है।

रिपोर्ट की मानें तो भारत सरकार क्रिप्टोकरेंसी को देश भर में बैन करने के लिए जल्द एक क़ानून ला सकती है, जिसके बाद देश में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) की ट्रेडिंग, माइनिंग, ट्रांसफ़र और यहाँ तक की इसको रखना भी कानूनन अपराध माना जाएगा।

Cryptocurrency Ban को लेकर बिल?

दिलचस्प ये है कि अगर संसद से क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को बैन करना वाला संभावित कानून डिजिटल करेंसी बिल, 2021 (Digital Currency Bill, 2021) पास होता है तो भारत कानून बनाकर क्रिप्टोकरेंसी को बैन करने वाला दुनिया का पहला एक बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन जाएगा।

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि अगर भारत सरकार इस क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को बैन करने संबंधित क़ानून को पास करती है तो क्रिप्टोकरेंसी धारकों को शायद 6 महीनों का समय दिया जाए, जिससे वह अपने क्रिप्टोकरेंसी निवेश से बाहर निकल सकें, और इस समयावधि के बाद से सजा दी जा सकती है।

वहीं सूत्रों का ये भी कहना है कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार संसद में इस बिल को आराम से पास करवा सकती है।

याद दिला दें कि साल 2019 में सरकार द्वारा गठित एक समिति ने क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग करने, इसे रखने, इसकी माइनिंग करने या इसे ट्रांसफर करने वाले लोगों को 10 साल तक की जेल की सजा देने की सिफारिश की थी।

लेकिन अब देखना ये है कि अगर ये कथित बिल संसद की पटल पर पेश किया जाता है तो इसमें प्राइवेट डिजिटल करेंसी जैसे Bitcoin आदि की ट्रेडिंग, माइनिंग और इसको रखने वालों पर सजा का क्या प्रावधान शामिल किया जाता है?

असल में रिपोर्ट में वित्त मंत्रलाय के सूत्रों ने बताया कि इस बिल को लेकर जुर्माना आदि चीज़ों को अभी तय किया जा रहा है, जो अंतिम चरण में है।

Cryptocurrency Ban पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण?

ये ऐसे वक़्त में आया है जब कुछ ही दिनों पहले देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत में क्रिप्टोकरेंसी के भविष्य को लेकर सकारात्मक संकेत देते हुए कहा था कि केंद्र सरकार नई तकनीकों को लेकर प्रयोग करने करने का विचार रखती है न कि उन्हें पूरी तरह से दरकिनार करने का।

लेकिन जानकारों का कहना ये है कि इस संभावित डिजिटल करेंसी बिल का मकसद RBI द्वारा जारी की जा सकने वाली नई और भारत की आधिकारिक डिजिटल करेंसी (सरकारी क्रिप्टोकरेंसी) को बल देना हो सकता है, और प्राइवेट डिजिटल करेंसी बैन के साथ इसको पेश किया जा सकता है।

bitcoin-value-in-rupees

ये ख़बर इसलिए और अहम हो जाती है क्योंकि दिलहल दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin की कीमतों में जबरदस्त वृद्धि हुई है और शनिवार को पहली बार सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 1 Bitcoin की क़ीमत $60,000 के पार पहुंच गई।