up-teacher-develops-humanoid-robot-shalu-that-speaks-47-languages
Credit: Twitter/@ians_india

आपने दुनिया की पहली रोबोट नागरिक सोफिया (Sophia) के बारे में तो काफ़ी सुना होगा, लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसी भारतीय रोबोट (Robot) के बारे में जिसका नाम है ‘शालू (Shalu)’

जी हाँ! उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के राजमलपुर गाँव के निवासी और आईआईटी-बॉम्बे में केन्द्रीय विद्यालय के एक कंप्यूटर विज्ञान के शिक्षक, दिनेश पटेल (Dinesh Patel) ने एक स्वदेशी रोबोट बनाया है, जो कुल 47 भाषाएं बोल सकता है।

सही सुना आपने, ये रोबोट सकता नौ भारतीय स्थानीय और 38 विदेशी भाषाएँ बोलने में सक्षम है, और दिनेश ने इसको शालू (Shalu) नाम दिया है।

दिलचस्प ये है कि समाचार एजेंसी IANS की रिपोर्ट के मुताबिक शालू (Shalu) नामक इस रोबोट (Robot) को दिनेश जी ने प्लास्टिक, लकड़ी, कार्डबोर्ड और एल्युमिनियम जैसी चीज़ों के वेस्ट मैटीरियल से बनाने का काम किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक़ इस Shalu Robot को बनाने का आइडिया दिनेश पटेल को 2010 में रिलीज हुई बॉलीवुड साइंस फिक्शन फिल्म Robot से आया।

Shalu Robot कितने दिन में बनी और कितना खर्चा आया?

दिनेश बताते हैं कि Shalu नामक इस ह्यूमनॉएड रोबोट (Robot) को बनाने में उन्हें क़रीब 3 साल का वक़्त लगा और इस पर उन्हें कुल करीब ₹50,000 का खर्च आया।

दिनेश पटेल ने इस Shalu Robot को लेकर और भी बताते हुए यह कहा कि ये रोबोट अपने आसपास मौजूद लोगों को पहचानने के साथ ही साथ चीज़ों को याद रखने की खूबी से भी लैस है।

इतना ही नहीं बल्कि ये रोबोट लोगों का अभिवादन कर सकती है, भावनाएं ज़ाहिर कर सकती है, अखबार या रेसिपी तक पढ़कर सुना सकती है। दिनेश का तो कहना है कि इसको इसे स्कूल में टीचर या ऑफिस में रिसेप्शनिस्ट की तरह इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

humanoid-robot-shalu
Shalu – a humanoid robot that speaks 47 languages (Image: Twitter/@ians_india)

लेकिन इसकी खूबी यही ख़त्म नहीं होतीं हैं, असल में Shalu Robot सामान्य ज्ञान और गणित से जुड़े सवालों के जवाब तक दे सकती है।

ज़ाहिर है अपने इस आविष्कार की बदौलत दिनेश को चौतरफ़ा तारीफ़ मिल रही हैं। यहाँ तक कि आईआईटी बॉम्बे के कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट में प्रोफेसर सुप्रतीक चक्रवर्ती ने भी एक पत्र के ज़रिए दिनेश की प्रशंसा की है।

इसके पहले Sophia Robot भी रही थी सूर्खियों में

आपको बता दें इसके पहले हांग कांग आधारित Hanson Robotics द्वारा बनाई गई सोशल ह्यूमनॉएड रोबोट Sophia ने भी ख़ूब सुर्ख़ियाँ बटोरी थीं। फ़रवरी, 2016 में सामने आई Sophia सामान्य इंसान की तरह बातचीत करने से लेकर अलग-अलग मुद्दों पर अपनी राय तक शेयर करने में सक्षम है।