bgmi-tiktok-may-return-to-india-soon

Pakistan: भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान की मीडिया नियामक एजेंसी ने गुरुवार (11 मार्च) को फिर से चीन के शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक (TikTok) पर बैन (Ban) लगा दिया है।

असल में ये क़दम तब उठाया गया जब दो वकीलों ने पाकिस्तान (Pakistan) की उत्तर-पश्चिम में स्थित पेशावर हाईकोर्ट में प्लेटफ़ॉर्म पर अश्लील कंटेंट फैलाने का आरोप लगाते हुए इसको बैन करने की माँग की।

आपको बता दें पाकिस्तान की पेशावर हाईकोर्ट ने TikTok को बैन करने का आदेश जारी कर दिया है और पाकिस्तान टेलिकॉम अथॉरिटी (PTA) की ओर से इस फैसले की पुष्टि भी कर दी गई है।

असल में पाकिस्तान टेलिकॉम अथॉरिटी (PTA) ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि पेशावर हाईकोर्ट की तरफ़ से देश में TikTok के ऐक्सेस को ब्लॉक करने का निर्देश दिया गया है।

आपको बता दें फ़िलहाल पाकिस्तान (पाकिस्तान) की अदालत ने ‘अश्लीलता और अनैतिकता’ फैलाने के आधार पर TikTok को बैन करने के निर्देश दिए हैं।

पिछले साल भी Pakistan ने किया था TikTok को बैन

असल में चीन की ByteDance के मालिकाना हक़ वाली TikTok ऐप को पाकिस्तान ने पिछले साल अक्टूबर, 2020 में भी बैन किया था।

pakistan-to-block-short-video-sharing-app-tiktok-after-high-court-order

लेकिन तब TikTok ने अपने प्लेटफ़ॉर्म पर पाकिस्तान (Pakistan) देश के भीतर ‘अश्लीलता और अनैतिकता’ फैलाने वाले सभी अकाउंट्स को ब्लॉक करने का वादा किया गया था। इसके बाद पाकिस्तान ने भी क़रीब 10 दिनों के बाद इस बैन को हटा लिया था।

ग़ौर करने वाली बात ये है कि तब TikTok ने पाकिस्तानी कानूनों के हिसाब से प्लेटफ़ॉर्म पर अकाउंट्स को मॉनीटर करने और उन्हें रेगुलेट करने की बात कही थी।

Pakistan Banned TikTok: पिछले निर्देश ना मानने का आरोप

नए मामले में पेशावर हाईकोर्ट ने कहा है कि उसने वकीलों नाजिश मुजफ्फर और सारा अली की एक याचिका पर कार्रवाई करते हुए ये फ़ैसला दिया है।

इस याचिका में दोनों याचिकाकर्ता वकीलों ने हाईकोर्ट से कहा कि TikTok पिछले साल पाकिस्तानी मीडिया नियामक एजेंसी द्वारा दिए गए निर्देशों और दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रहा है, और फिर से देश में अश्लील और अनैतिक कंटेंट को बढ़ावा दे रहा है, जिसके चलते प्लेटफ़ॉर्म पर कठोर कार्यवाई की जानी चाहिए।

ये मुद्दा इसलिए भी दिलचस्प हो जाता है क्योंकि TikTok चीन की कंपनी है और पाकिस्तान व चीन को एक दूसरे का करीबी सहयोगी माना जाता रहा है।

आपको बता दें पिछले साल लगे बैन के बाद पाकिस्तान के ही कुछ TikTok सेलिब्रिटीज ने वीडियो-शेयरिंग ऐप पर प्रतिबंध लगाने के लिए सरकार की आलोचना की थी।

फ़िलहाल पाकिस्तान में लगभग 39 मिलियन बार डाउनलोड किया गया ये ऐप, पिछले साल ही भारत में भी बैन हो चुका है। और अमेरिका में भी पिछले साल इसकी हालात बहुत अच्छी नहीं थी।

पिछले साल जून महीने में भारत-चीन सीमा पर तनाव के बाद भारत सरकार ने इस ऐप को यूजर्स डाटा की सुरक्षा और राष्ट्रीय अखंडता के लिए ख़तरा बताते हुए बैन कर दिया था।

वहीं अमेरिका में भी पिछले साल प्लेटफ़ॉर्म पर चीन के साथ डेटा शेयरिंग जैसे मुद्दों को लेकर TikTok काफ़ी विवादों से घिरा नज़र आया था।