India_may_ban_Huawei_ZTE

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स (Samsung Electronics) ने E-UTRAN New Radio Dual Connectivity (EN-DC) तकनीक का इस्तेमाल करते हुए रिकॉर्ड 5G स्पीड हासिल की है।

आसान भाषा में आपको बता दें EN-DC तकनीक असल में 4G नेटवर्क का इस्तेमाल कर 5G डेटा स्पीड और कवरेज की सुविधा देती है।

साउथ कोरिया में Samsung की लैब में की गई एक टेस्टिंग में कंपनी ने सफलतापूर्वक 4G का 40 MHz और 5G के 800 MHz को मिलाकर इस्तेमाल करने पर एक डिवाइस में 5.23 Gbps स्पीड प्राप्त की है।

Samsung ने 5G के लिए किया इनका इस्तेमाल

इस टेस्टिंग के लिए Samsung ने अपने कमर्शियल एंड-टू-एंड सोल्यूशन का इस्तेमाल किया, जिसमें डिवाइस और नेटवर्क भी शामिल थे। इसमें Samsung GalaxyS20+ स्मार्टफोन, 4G रेडियो, 5G रेडियो (कॉम्पैक्ट मैक्रो), और 4G/5G कॉमन कोर शामिल हैं।

लेकिन ये साफ़ कर दें कि ये टेस्टिंग आइडियल स्थितियों में किया गया था। इसका मतलब साफ़ है कि रियल लाइफ़ में आम यूज़र्स को शायद ही इतनी 5G स्पीड मिले।

आपको बता दें इस तकनीक का फायदा उन टेलिकॉम कंपनियों को मिलेगा, जो लॉन्ग टर्म इवॉल्यूशन (LTE) या 4G से अब 5G नेटवर्क्स पर शिफ़्ट कर रही हैं।

इस बात में कोई शक नहीं है 5G तकनीक और स्मार्टफ़ोन को लेकर भारत समेत कई अन्य देशों में तेज़ी से प्रसार हो रहा है।।

इंटरनेशनल डाटा कॉर्पोरेशन (IDC) के अनुसार, 2020 में भारत में कुल 15 करोड़ स्मार्टफोन्स ख़रीदे गए और इनमें से 30 लाख से ज्यादा 5G फ़ोन थे। ज़ाहिर है 2019 से 2020 के बीच 5G स्मार्टफोन बाज़ार तेज़ी से बढ़ना शुरू हुआ है।

भारत में 5G की स्थिति

अगर भारत में 5G की स्थिति पर ग़ौर किया जाए तो Airtel ने कुछ ही समय पहले हैदराबाद में अपनी 5G सेवा की टेस्टिंग करते हुए, ऐसा करने वाली पहली भारतीय कंपनी का ख़िताब हासिल किया था।

असल में Airtel ने Qualcomm के साथ पार्टनरशिप करके 2021 ये अंत या 2022 की शुरुआत तक भारत में 5G सेवा को रोलआउट करने का लक्ष्य बनाया है।

वहीं देश की लोकप्रिय टेलीकॉम कंपनी Jio ने भी जुलाई, 2020 में एक बयान दिया था कि वह 2021 की दूसरी छमाही तक देश में 5G सेवा को लॉन्च करने का मन बना रही है।