india-first-digital-university-launched-in-kerala

हाल ही में केरल राज्य के टेक्नोसिटी, मंगलापुरम में देश की पहली डिजिटल यूनिवर्सिटी (Digital University) का उद्घाटन किया गया है।

इस मौक़े पर राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के साथ ही राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान भी समारोह में शामिल रहे, जो केरल यूनिवर्सिटी ऑफ डिजिटल साइंसेज, इनोवेशन, और टेक्नोलॉजी [University of Digital Sciences, Innovation, and Technology (KUDSIT)] के कुलपति भी हैं।

ख़ास ये रहा कि राज्यपाल और मुख्यमंत्री दोनों ने इस डिजिटल यूनिवर्सिटी के उद्घाटन समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए शिरकत की थी।

india-first-digital-university-launch

क्या होगा इस Digital University में ख़ास?

आपको बता दें इस डिजिटल यूनिवर्सिटी (Digital University) में ख़ास तौर पर मौजूदा और भविष्य की टेक्नोलॉजी के बारे में छात्रों को पढ़ाया जाएगा। इसके ज़रिए मक़सद ये होगा कि टेक्नोलॉजी के बारे में युवाओं को शिक्षित करते हुए उस टेक्नोलॉजी को देश-प्रदेश में सामाजिक विकास को बढ़ावा देने के लिए इस्तेमाल किया जा सकें।

उम्मीद यह है कि इस Digital University में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी, आर्टिफ़िशल इंटेलिजेन्स, डाटा एनालिटिक्स और अन्य कई नई डिजिटल तकनीकों के बारे में छात्रों में पढ़ाया जा सकता है।

इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री ने इस दौरान अपने संबोधन में कहा;

“देश में पहली डिजिटल यूनिवर्सिटी की शुरुआत होने से अब युवाओं के लिए जबरदस्त अवसर खुलेंगे। असल में समाज में डिजिटल विभाजन नहीं होना चाहिए। सरकार विभिन्न क्षेत्रों में डिजिटल समाधानों को शामिल करने के प्रयासों में है। हमें नई दुनिया के अनुसार तकनीकी रूप से प्रतिभाशाली लोगों को बढ़ावा देने की आवश्यकता है।”

रिपोर्ट के अनसर इस डिजिटल यूनिवर्सिटी (Digital University) की स्थापना क़रीब 20 साल पुराने Indian Institute of Information Technology and Management Kerala (IIITM-K) को अपग्रेड करके की गई है।

यहाँ डिजिटल टेक्नोलॉजी और मैनेजमेंट को लेकर ग्लोबल स्टैंडर्ड के अनुसार छात्रों को उच्च शिक्षा प्रदान कर इसको एक भविष्य के शैक्षिक संस्थान के रूप में बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा।

इस यूनिवर्सिटी का मुख्य फ़ोकस पोस्ट ग्रैजूएट प्रोग्राम और रिसर्च प्रोग्राम को लेकर होगा। वहीं इस विश्वविद्यालय को पाँच तरह के स्कूल या कहें तो कोर्स चलाए जाएँगें, जो निम्नलिखित हैं;

  • School of Computer Science and Engineering
  • School of Digital Sciences; School of Electronic Systems and Automation
  • School of Informatics
  • School of Digital Humanities
  • Liberal Arts, covering science, technology and humanities aspects of the Digital world

इनमें से सभी स्कूल इंडस्ट्री साइंस की विभिन्न विशेषज्ञता के साथ कंप्यूटर विज्ञान, सूचना विज्ञान, एप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स और मानविकी में मास्टर स्तर के प्रोग्राम तक की पेशकश करेंगें।

ये डिजिटल यूनिवर्सिटी टेक्नोसिटी में क़रीब 10 एकड़ के परिसर में फैली हुई है। एक बार पूरी तरह से बन जाने के पास यहाँ कई शिक्षार्थियों के साथ ही क़रीब 1,200 रेज़िडेंट लर्नर्स  को शिक्षा प्रदान की जाएगी।