carbon-watch-india-first-app-to-assess-carbon-footprint-chandigarh

चंडीगढ़ अब भारत का पहला ऐसा राज्य या केंद्र शासित प्रदेश बन गया है जहाँ कार्बन वॉच (Carbon Watch) ऐप लॉन्च हुई है। लेकिन आप सोच रहें होंगें भला ये Carbon Watch मोबाइल ऐप है क्या? तो आइए जानते हैं।

असल में किसी व्यक्ति के द्वारा तमाम ऐक्टिविटी के ज़रिए कितनी कार्बन डाई-आक्सायड या ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जित की गई या तकनीकी भाषा में कहें तो उसके कार्बन फूटप्रिंट का पता लगाने के लिए बना है ये Carbon Watch मोबाइल एप्लिकेशन।

वैसे तो ये एप्लिकेशन (मोबाइल ऐप) देश भर के तमाम लोगों के द्वारा एक्सेस और इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन फ़िलहाल चंडीगढ़ में रहने वालों को ये ऐप एक विस्तृत रिसर्च और तमाम ख़ास विकल्प मुहैया करवाएगा।

Carbon Watch App कैसे करती हैं काम?

जब आप सबसे पहले इस ऐप को डाउनलोड करेंगें तो आपको इसमें तीन कैटेगॉरी में जानकारियाँ भरनी पड़ेंगी, जो हैं Water, Energy, Waste Generation और Transport (यात्रा करने वाले वाहन की जानकारी)

जैसे Water कैटेगॉरी में आपको भरना होगा कि आप दिन भर में कितना पानी इस्तेमाल करते हैं? वहीं Energy कैटेगॉरी में आपको बताना होगा कि आपके घर की बिजली का बिल कितना है, कितनी यूनिट बिजली इस्तेमाल होती है और क्या आप सोलर एनर्जी का इस्तेमाल भी करते हैं? और करते हैं तो कितना?

वहीं Waste Generation की कैटेगॉरी में आपको बताना होगा कि आपके और आपके परिवार द्वारा कितनी मात्रा में कूड़ा दैनिक रूप से इक्कठा होता है।

वहीं Transport कैटेगॉरी में बताना होगा कि आपके द्वारा ट्रैवल करने के लिए किस तरह के वाहन का इस्तेमाल किया जाता है, जैसे चार पहिया, दोपहिया या फिर साइकिल?

असल में इन तमाम जानकारियों को इक्कठा करने के बाद ऐप आपको बताएगी कि आपके द्वारा व्यक्तिगत रूप से कितनी कार्बन-डाई आक्सायड या ग्रीन हाउस गगैस उत्सर्जित की जा रही है, मतलब आपको कार्बन फूटप्रिंट कितना है?

इतना ही नहीं इस ऐप पर आपको प्रति व्यक्ति के लिहाज़ से उत्सर्जन की राष्ट्रीय और वैश्विक औसत आदि की जानकारी भी प्रदान करेगा।

रोज़ाना क्या अपडेट देगी कार्बन वॉच ऐप?

ये मोबाइल एप्लिकेशन आपको अपना कार्बन फूटप्रिंट कम करने के तरीकों को लेकर सुझाव भी देगी, जो आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी के आधार पर ही होगा, मतलब पर्सनलाइज्ड।

carbon-watch-india-first-app-to-assess-carbon-footprint

जी हाँ! मान लीजिए आपने ऐप में डाला कि आप दैनिक रूप से किसी जगह की यात्रा केवल चार पहिया वाहनों से ही करते हैं। तो ऐसे में ये ऐप आपको बताएगी कि कभी कभी आप चार पहिया वाहनों में अपनी यात्रा को कम करते हुए साइकिल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

और इसके साथ ही ये ऐप आपको ये भी बताएगी कि आप कैसे और कहाँ-कहाँ एनर्जी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे डाउनलोड करें Carbon Watch App?

इस Carbon Watch नामक मोबाइल एप्लिकेशन को Android स्मार्टफ़ोनों पर एक क्यूआर कोड (QR Code) के ज़रिए डाउनलोड किया जा सकता है। या फिर आप यहाँ क्लिक करके भी इसको डाउनलोड कर सकते हैं। (Click Here To Download Carbon Watch)

इसके साथ ही अगर आपको इस ऐप से संबंधित कोई फ़ीडबैक या सवाल है तो ऐप यूज़र्स ch-env@nic.in पर ई-मेल कर सकते हैं।

आपको बता दें चंडीगढ़ असल में भारत की कुछ ग्रीन सिटीज़ में से एक है, जिसने ग्रीन कवर हासिल करने के 33% के निर्धारित लक्ष्य को पार करते हुए इस आँकड़े को 45% किया है।

लेकिन वायु गुणवत्ता के निर्धारित मानकों को पूरा न करने वाले 112 भारतीय शहरों में ये शहर भी शुमार है।

रिपोर्ट के मुताबिक़ चंडीगढ़ में प्रति 1,000 जनसंख्या पर 878 वाहन मौजूद हैं। असल में पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी, चंडीगढ़ की आबादी लगभग 11 लाख बताई जाती है।