whatsapp-can-offer-upi-services-to-10-crore-users-in-india

हम सब ये तो जानते हैं कि दुनिया की सबसे लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने तमाम मुश्किलों को झेलने और एक लंबे इंतज़ार के बाद पिछले साल नवंबर में भारत भर में अपनी WhatsApp Pay (UPI लेनदेन) सुविधा को लॉन्च करने की मंज़ूरी हासिल की थी।

इसने लॉन्च के पहले महीने में भले एक साधारण आँकड़ा हासिल करने हुए क़रीब 3 लाख ग्राहकों को लेनदेन के लिए आकर्षित किया था। लेकिन इसके अगले ही महीने दिसंबर 2020 में यही आँकड़ा तेज़ी से बढ़ते हुए क़रीब 8 लाख के पार हो गया था।

लेकिन लगता है WhatsApp Pay की ये बढ़त अब थम ही नहीं बल्कि नीचे भी गिरने लगी है। जी हाँ!  असल में NPCI द्वारा जारी नए आँकड़ो के अनुसार जनवरी 2021 में WhatsApp Pay के इन आँकड़ो में गिरावट दर्ज करते हुए क़रीब 5 लाख 60 हज़ार लेनदेन ही दर्ज किए गए।

ज़ाहिर है ट्रांजेक्शन वॉल्यूम के आँकड़ो के आधार पर WhatsApp Pay को वो प्रतिक्रिया नहीं मिली जिसकी कंपनी उम्मीद कर रही थी। असल में देश में इसके 450 मिलियन से भी अधिक उपयोगकर्ताओं के होने का दावा किया जाता रहा है। और ऐसे में WhatsApp Pay के आने से बहुत से उपयोगकर्ताओं द्वारा इसको अपनाने की बात कही जा रही थी।

लेकिन इसी दौरान दिलचस्प ये भी है कि भले लेनदेन की संख्या में कमी आई हो, लेकिन कंपनी ने लेनदेन के मूल्य में बढ़त दर्ज की गई है। असल में नवंबर में जहाँ WhatsApp Pay ने सिर्फ़ ₹13.87 करोड़ के लेनदेन दर्ज किए थे, दिसंबर में ये आँकड़ा बढ़कर ₹29.72 करोड़ हो गया था और अब जनवरी में यही ₹36.44 करोड़ हो गया है।

अब तक वैसे आप समझ ही गए होंगें कि WhatsApp Pay के इस आँकड़ो में गिरावट का कारण हाल ही में उभरा WhatsApp का Privacy Policy विवाद भी है।

दरसल इन नई विवादित पॉलिसी के चलते कई WhatsApp उपयोगकर्ताओं ने Telegram और Signal जैसे विकल्पों का इस्तेमाल शुरू कर दिया। और फिर जब बात पेमेंट की हो तो UPI पेमेंट के इतने विकल्पों जैसे Google Pay, PhonePe, और Paytm आदि के बीच WhatsApp Pay का जगह बनाना पहले से ही एक मुश्किल काम है।

वहीं आँकड़ो को देखें तो जनवरी में UPI लेनदेन के मामले में भारत में PhonePe टॉप स्थान पर रहा, इसके बाद Google Pay ने दूसरा स्थान प्राप्त किया।

NPCI के अनुसार जनवरी में PhonePe ने 968.72 मिलियन लेनदेन प्रॉसेस किए, वहीं Google Pay ने 853.53 मिलियन लेनदेन, Paytm ने 332.69 मिलियन, Axis Bank ने 71.96 मिलियन और Amazon Pay ने 46.30 मिलियन लेनदेन दर्ज किए।