jeff-bezos-to-step-down-from-ceo-of-amazon-in-third-quarter

दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय ई-कॉमर्स कंपनी Amazon.com Inc ने मंगलवार को एक बड़ी जानकारी दी। दरसल कंपनी के मुताबिक़ जल्द ही Amazon के संस्थापक जेफ बेजोस (Jeff Bezos) कंपनी के सीईओ का पद छोड़ देंगे और कार्यकारी अध्यक्ष बनकर अपनी भूमिका निभाएँगें।

आपको बता दें Amazon ने लगातार तीसरी बार रिकॉर्ड मुनाफ़ा दर्ज किया है और इसके साथ ही कंपनी ने पहली बार तिमाही बिक्री  के रूप में $100 बिलियन से भी अधिक का आँकड़ा पार किया है।

असल में जेफ बेजोस (Jeff Bezos) इस साल की तीसरी तिमाही में अपना सीईओ पद छोड़ते नज़र आएँगें और उनकी जगह Amazon के वर्तमान क्लाउड कंप्यूटिंग प्रमुख एंडी जेसी (Andy Jassy) अपने सीईओ के रूप में पद संभालेंगें।

दिलचस्प रूप से Refinitiv के IBES के आंकड़ों की मानें तो Amazon ने विशेषज्ञों के कुल बिक्री के $119.7 बिलियन के अनुमानों को पीछे छोड़ते हुए, दुनिया भर में एक सबसे बड़े ऑनलाइन रिटेलर का परिचय देते हुए कुल बिक्री का आँकड़ा $125.56 बिलियन दर्ज किया।

बुक बेचने से की थी Jeff Bezos ने Amazon की शुरुआत

27 साल पहले एक इंटरनेट पर बुक बेचने के रूप में कंपनी की शुरुआत करने वाले बेजोस ने Amazon की वेबसाइट पर कर्मचारियों के लिए पोस्ट किए गए एक नोट में कहा,

“एक कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर मैं हमेशा Amazon के अहम सफ़र से जुड़ा रहूँगा, लेकिन सीईओ की ज़िम्मेदारी से मुक्त होकर अब मेरे पास काफ़ी समय होगा ताकि मैंने Day 1 Fund, Bezos Earth Fund, Blue Origin, The Washington Post आदि पर ध्यान दे सकूँ, जो एक तरीक़े से मेरा जुनून रहें हैं।”

“इतना ज़रूर है कि मेरे पास इससे पहले कभी अधिक समय और ऊर्जा नहीं थी, और ये रिटायरमेंट नहीं है।”

 

कौन हैं नए Amazon CEO, Andy Jassy?

इस बीच बात करें Amazon के आगामी CEO यानि एंडी जेसी (Andy Jassy) की तो कंपनी की वेबसाइट के अनुसार वह 1997 में Amazon में शामिल हुए थे। वहीं कंपनी की वेबसाइट के अनुसार उन्होंने Harvard Business School से MBA किया हुआ है। कंपनी के

अनुसार उन्होंने ही Amazon Web Services (AWS) की स्थापना की और आज उसके क्लाउड नेटवर्क को दुनिया भर में लाखों-करोड़ों लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।

इस बीच अमेरिका में जब कोरोनावायरस महामारी का प्रकोप बढ़ना शुरू हुआ था, उसके बाद से ही उपभोक्ताओं को घरेलू सामान और मेडिकल आपूर्ति आदि क्षेत्रों में भी Amazon ने तेज़ी से रूख किया। और जब दुनिया भर में तेज़ी से ऑफ़लाइन स्टोर बंद होने लगे तब उस वक़्त में इस दुनिया के सबसेब बड़े ऑनलाइन रिटेलर ने 400,000 से अधिक कर्मचारियों की भर्ती की और लगातार मुनाफ़ा दर्ज किया।

Amazon ने क़रीब क़रीब हर मोर्चे पर काफ़ी तेज़ी देखी, फिर भले वो गोदामों खोलने को लेकर हो, अपने ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म से बिक्री को लेकर हो, अपनी Amazon Prime मेम्बरशिप को लेकर हो या फिर थर्ड पार्टी सेवा बिक्री जैसे वेयरहाउसिंग और व्यापारियों को बिक्री आदि की बात हो।

ख़ैर! अब देखना ये दिलचस्प होगा कि Amazon का नया नेतृत्व कंपनी को किस तरह से नई दिशा और नई उपलब्धियों की ओर ले जा पाता है?