जहाँ एक तरफ़ ऐसा माना जा रहा था कि 2020 में 5G तकनीक के साथ फ्लैगशिप स्मार्टफोन इंडस्ट्री फिर से मज़बूत वृद्धि दर्ज करेगी, वहीं महामारी के चलते दुनिया भर की इंडस्ट्री के साथ ही आयात-निर्यात प्रभावित होने के चलते स्मार्टफ़ोन इंडस्ट्री भी प्रभावित हुई।

लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि Apple के लिए बीता साल इतना भी बुरा साबित नहीं हुआ। असल में Canalys की एक रिपोर्ट के अनुसार Apple जिसने पिछले साल $2 ट्रिलियन का मार्केट कैप हासिल कर लिया, ने साल 2020 की चौथी तिमाही में वैश्विक रूप से स्मार्टफोन डिलीवरी के मामले में टॉप स्थान हासिल किया है।

दरसल इस रिसर्च कंपनी की रेप्रत के अनुसार नए लॉन्च किए गए iPhone 12 की भारी मांग के कारण Apple ने Q4 में 81.8 मिलियन यूनिट शिप किए, जो पिछले साल के मुकाबले 4% ज्यादा है। वहीं पूरी तिमाही में लगभग 359.6 मिलियन स्मार्टफोन भेजे गए, जो पिछले साल की तुलना में 2% कम है।

Canalys विश्लेषक Vincent Thielke ने कहा;

“iPhone 12 काफ़ी हित प्रोडक्ट साबित हुआ। Apple ने 5G को लेकर अपने प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में बेहतर स्थिति प्रपत की है और विकसित बाजारों में इसके प्रोडक्ट के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है। दरसल iPhone के रिटेल बॉक्स से एक पावर प्लग को हटाना इसके वजन और आकार को कम करता है, जो महामारी के कारण एयर शिपमेंट की अधिक लागत से भी कंपनी को बचाता नज़र आया।”

लेकिन इस बीच बात करें Samsung की, जिसके पास पिछली तिमाही में बेचने के लिए कोई नया प्रोडक्ट नहीं था, ने 62 मिलियन यूनिट ही शिप की और 12% की गिरावट दर्ज करके Apple के बाद दूसरे स्थान पर रहा।

पर साल 2020 में कंपनी ने टॉप स्मार्टफोन विक्रेता का मुक़ाम हासिल करते हुए 255.6 मिलियन यूनिट शिप कर, बाज़ार में 20% का मार्केट शेयर हासिल किया। वहीं Apple ने 207.1 मिलियन यूनिट्स और 16% मार्केट शेयर के साथ ही संतोष किया।

इस बीच Xiaomi, Oppo और Vivo क्रमश: 3, 4 और 5 स्थान पर रहे और Huawei की बाज़ार हिस्सेदारी में सेंध मारने में कामयाब रहे। दरसल अमेरिका में बैन के चलते Huawei 6 साल में पहली बार स्मार्टफोन इंडस्ट्री के इस चार्ट में 6वें नंबर पर फिसलता नज़र आया। लेकिन पूरे साल में शिपमेंट की बात करें तो ये चीनी स्मार्टफोन निर्माता तीसरे स्थान पर नज़र आता है।

लेकिन आने वाले समय में Huawei के आँकड़े और भी गिर सकते हैं क्योंकि कंपनी ने Honor ब्रांड को ख़ुद से अलग करने का फ़ैसला किया है और यह फ़ैसला भले Huawei के लिए बुरा हो लेकिन Honor के तौर पर एक अलग इकाई बनाने से इस ब्रांड को ज़रूर फ़ायदा पहुँचेगा।

इस बीच Canalys की सीनियर एनालिस्ट Ben Stanton ने कहा,

“COVID-19 की दूसरी लहर में भरे भारी उछाल देखा गया हो, लेकिन शुरुआती लहर में इंडस्ट्री काफ़ी प्रभावित हुई थी। जहाँ विक्रेताओं को भी वर्चुअल लॉन्च इवेंट्स का सहारा लेना पड़ा वहीं अहम चैनल मीटिंग्स, घर से काम व शिक्षा के चलते डिवाइसों को और भी तेज़ी से ख़रीदा जा रहा है।”

“COVID-19 टीकों की शुरूआत अब 2021 में इंडस्ट्री को और बल देती नज़र आएगी, जिससे कंपनियों को नई योजना बनाने और निवेश करने में बल मिलेगा। और फ़िलहाल भले सरकारी प्रोत्साहन भी मानों फीके से पड़ गए हैं, लेकिन माना ये जा रहा है कि 2021 में स्मार्टफोन बाजार में तेजी देखने को मिलेगी।”