Amazon और Reliance-Future के बीच चल रहे विवाद को लेकर एक बड़ी ख़बर सामने आयी है। दरसल बाजार नियामक SEBI ने बुधवार को Future Group और Reliance के बीच हुई अधिग्रहण संबंधी डील को मंज़ूरी दे दी है।

इसके साथ ही इस फ़ैसले को देखते हुए बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने भी 24,713 करोड़ रुपये के सौदे के लिए अपनी एक तरीक़े से एनओसी देने के संकेत दे दिए हैं।

आपको बता दें कुछ ही समय पहले Amazon ने SEBI को एक पत्र लिख कर ये अपील की थी कि मामला अदालत में है इसलिए SEBI इस डील को लेकर फ़िलहाल मंज़ूरी देने का काम ना करें।

इस बीच इतना ज़रूर है कि SEBI ने ये मंज़ूरी कुछ शर्तों के साथ दी है, आपको बता दें Future और Reliance दोनों ने ये डील पिछले साल अगस्त में घोषित की थी।

इस बीच SEBI ने कहा है कि दिल्ली हाईकोर्ट में समक्ष ये सौदे को लेकर Amazon द्वारा दायर किए गया मामला लंबित है।

लेकिन दिलचस्प यह है कि इस डील पर SEBI का ये रूख अदालत के फ़ैसले को भी कहीं न कहीं प्रभावित कर सकता है, और इसी का डर Amazon को भी था, जिसकी वजह से ही इसने नियामक को पत्र लिख कर ऐसा न करने की अपील की थी।

आपको बता दें क़रीब $3.4 बिलियन में Reliance ने भारत की दूसरी सबसे बड़ी रिटेल कंपनी Future Group में बहुमत हिस्सेदारी खरीदने का फ़ैसला किया है।

लेकिन इस डील के ऐलान के बाद से ही लगातार Future Coupons में हिस्सेदारी रखने वाला Amazon इसको Future Group और इसके बीच हुए समझौते की शर्तों का उल्लंघन बता रहा है।

इस बीच CCI ने भी इस डील को अपनी मंज़ूरी दे दी थी। अब देखना ये हैं कि इसके बाद दुनिया की दिग्गज़ ई-कॉमर्स कंपनी Amazon इसको लेकर क्या क़दम उठाती है?