इस बात में कोई शक नहीं है कि Tesla के सर पर दुनिया की सबसे मूल्यवान ऑटोमोबाइल निर्माता का ताज सज चुका है। और जैसे ही अब Apple ने बाज़ार में Tesla को टक्कर देने का ऐलान किया, तभी कंपनी के संस्थापक Elon Musk ने भी इस विषय में ट्विटर पर अपने विचार साझा करने करने का फ़ैसला किया।

दरसल Retuers की एक रिपोर्ट में यह सामने आया था कि Apple एक इलेक्ट्रिक वाहन को लेकर काम कर रहा है। और इसी संदर्भ में Elon Musk ने एक ट्वीट करके बताया कि Tesla जब मुश्किल दौर से गुजर रहा था तब उन्होंने कंपनी को बेचने तक का मन बना लिया था और वे ये प्रस्ताव लेकर Apple के सीईओ Tim Cook के पास पहुंचे थे।

लेकिन दिलचस्प ये रहा कि अपने बातों में Musk ने साफ़ कर दिया कि वह Apple के नए कथित शानदार बैटरी कार के उतने प्रशंसक नहीं हैं।

“एक मोनोसेल इलेक्ट्रोकेमिकली असंभव है, क्योंकि अधिकतम वोल्टेज ~ 100X बहुत कम है। शायद उनका मतलब यह भी हो सकता है कि हमारी कोशिकाओं की तरह ही उनके संरचनात्मक बैटरी पैक मौजूद रहें।”

दरसल Tesla का लोकप्रिय Model 3 अपने उत्पादन की प्रक्रिया के शुरुआती दिनों में कई समस्याओं से घिरा रहा और इसमें कई अड़चनें भी आई, जिसके चलते प्रोडक्शन में भी गिरावट आई थी।

हालंकि इसके बाद किसी तरह कंपनी ने अपने Model 3 को बनाया और और स्टॉक मार्केट में कुछ अत्यधिक उत्साही लोगों से काफ़ी मात्रा में निवेश भी हासिल किया।

दरसल उसी समय Musk के मुताबिक़ जब कंपनी की हालात बिगड़ रही थी और महीने भर के लिए लगभग दिवालियापन जैसी हालात हो गई थी, तब Musk ने कंपनी को बेचने का मन बनाया था।

लेकिन किसी भी सीईओ द्वारा ऐसे इस बात को ज़ाहिर करना एक असामान्य की घटना लगती है। दरसल आज Tesla की बाज़ार में क़ीमत काफ़ी बढ़ चुकी है और हाल के दिनों में कंपनी ने किसी भी वित्तीय फाइलिंग या बिक्री पर चर्चा भी नहीं की है।

इस बीच यह भी देखा गया है कि Tesla और Apple ने हमेशा से ही सिलिकॉन वैली में अपनी प्रतिभाओं के दम एक दूसरे को ललकारा है। 2015 में Musk ने Apple को Tesla का कब्रिस्तान कहा था। उन्होंने तब कहा था कि अगर आप Tesla में जगह नहीं बना पाते, तब आप Apple में काम करना शुरू करते हैं।