कैपिटल मार्केट इन्फ्रास्ट्रक्चर स्टार्टअप smallcase एक ताज़ा निवेश दौर में DSP Group के नेतृत्व में सीरीज-B फ़ंडिंग और में $14 मिलियन का निवेश हासिल किया है। दिलचस्प बात यह है कि इस निवेश दौर में कंपनी के मौजूदा निवेशकों Sequoia Capital India, Blume Ventures, Beenext और WEH Ventures ने भी भागीदारी की।

इतना ही नहीं बल्कि CRED के संस्थापक कुणाल शाह और राकेश झुनझुनवाला के मालिकाना हक़ वाली Rare Enterprises के सीईओ, उत्पल शेठ भी शमिल रहे।

Mint की एक रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी इस निवेश का इस्तेमाल प्लेटफॉर्म के बुनियादी ढांचे के स्टैक को बढ़ाने, अधिक उत्पादों और भागीदारों को जोड़ने के साथ ही साथ अपनी तकनीक और उत्पाद टीमों का विस्तार करने में करेगी।

असल में पांच साल पहले स्थापित किया गया यह स्टार्टअप ब्रोकरेज, सलाहकार और डिजिटल मनी प्लेटफ़ोर्म जैसे कामों के साथ ही smallcases नामक सरल और पारदर्शी निवेश उत्पादों की पेशकश करता है।

smallcases असल में स्टॉक और एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ETF) के मॉडल पोर्टफोलियो हैं जो पंजीकृत व्यक्तियों और संस्थाओं द्वारा बनाए और मैनेज किए जाते हैं।

इस बीच smallcase के संस्थापक और सीईओ, वसंत कामथ ने कहा;

“हमारा लक्ष्य भारतीय खुदरा निवेशकों के लिए सरल और पारदर्शी निवेश प्रोडक्ट विकसित करने का है और पिछले कुछ वर्षों में, हमने एक बहुत ही अनोखे ब्रांड का निर्माण किया है और इस लक्ष्य को आगे बढ़ाने के लिए रणनीतिक भागीदारों के रूप में भारत के कुछ सबसे सम्मानित निवेशकों को भी अपने साथ जोड़ने मेन सफ़ल रहें हैं।”

फ़िलहाल smallcases नामक इसका प्लेटफ़ोर्म Zerodha, HDFC Securities, Kotak Securities, 5Paisa, और AxisDirect के साथ अपने क्लाइंट बेस को स्टॉक और ETF स्मॉलकैप की पेशकश करता है।

दिलचस्प यह है कि सिर्फ़ ब्रोकरेज फर्मों के साथ साझेदारी के माध्यम से, स्टार्टअप का निवेशक आधार पिछले दो वर्षों में 1.5 मिलियन से अधिक का हो गया हाई, और इसके उत्पाद के माध्यम से 5,000 करोड़ रुपये का लेन-देन किया जा रहा है।

smallcase ने पिछले ही साल अपना एक पब्लिशर प्लेटफ़ॉर्म भी लॉन्च किया था, जो निवेश उत्पाद निर्माण को लोकतांत्रिक बनाने के लिए एक बिज़नेस-इन-बॉक्स सोल्यूशन के रूप में पेश किया गया था। निवेश मैनेज करने के अलावा, यह सलोयूशन अपने व्यवसाय को शुरू करने, मैनेज करने और विकसित करने के लिए जोखिम प्रोफाइलिंग, शुल्क संग्रह, चालान, रेगिस्ट्रेशन पेशेवरों और सलाहकारों से बात करने से लेकर अनय सहूलियतें भी देता है।

आपको बता देन मौजूदा समय में ही 50 से अधिक सलाहकार आदि इस पब्लिशर प्लेटफॉर्म का उपयोग कर रहें हैं।

वहीं ब्रोकरेज इंटीग्रेशन और इसके B2B ऑफर के अलावा, smallcase सीधे रिटेल निवेशकों के साथ छोटे ऐप के माध्यम से भी जुड़ता है जो उपयोगकर्ताओं को विभिन्न ब्रोकरेज में निवेश करने और उनके निवेश को ट्रैक करने की सुविधा से लैस करता है।