शायद इस बात से आप भी सहमत हों कि बहुत ही कम ऐसे भारतीय सोशल मीडिया स्टार्टअप्स हैं, पहले तो जिन्हें सफ़लता मिली और फिर आगे चलकर उन्होंने इस सफ़ल मुक़ाम को भी बढ़ाते रहने का काम किया। और उन्हीं स्टार्टअप्स में से एक है ShareChat, जिसने एक नए $40 मिलियन के प्री-सीरीज़ E दौर हासिल करने का ऐलान किया है।

इस निवेश दौर में कंपनी के मौजूदा निवेशक Twitter ने भी भागीदारी की। वहीं इसके साथ ही इस दौर में भाग लेने वालों में Dr. Pawan Munjal, DCM Shriram Promoters Family Office, SAIF Partners, Lightspeed Ventures और India Quotient शुमार रहे।

माना यह जा रहा है कि ShareChat इस नए दौर में जुटाए गए निवेश को अपने हाल ही में लॉंच किए गए शॉर्ट विडीओ प्लेटफ़ोर्म Moj के विस्तार करने में इस्तेमाल करेगा, जो सीधे तौर पर भारत में बैन हो चुके TikTok का विकल्प बनकर उभरा है।

इस नए निवेश को लेकर कंपनी ने कहा;

”प्रोडक्ट डिवेलप्मेंट की दिशा में किए गए निवेश को दोगुना करने, और क्रीएटर इकोसिस्टम को बढ़ाने से लेकर म्यूजिक लेबल के साथ साझेदारी करने तक के लिए यह फ़ंड काफ़ी काम आएगा।”

दरसल भारत के सोशल मीडिया बाजार में अमेरिकी कंपनियों का दबदबा है और इन सब के बीच ShareChat ख़ुद को एक स्वदेशी विकल्प के रूप में स्थापित करने के प्रयास करता रहा है। और इन प्रयासों में सफ़ल होते हुए  स्टार्टअप काफ़ी तेज़ी से एक सफ़ल सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के रूप में उभरा है।

आपको बता दें इस निवेश दौर के साथ ही अब तक ShareChat ने कुल $264 मिलियन का निवेश हासिल कर लिया है। और दिलचस्प बात यह है कि ShareChat के निवेशकों की लिस्ट में Twitter जैसे दिग्गज़ प्लेटफ़ोर्म भी शुमार हैं और जो वक़्त वक़्त पर कंपनी को पूँजी आदि के लिहाज़ से समर्थन करता नज़र आता रहा है।

इस बीच फ़िलहाल बार करें इसके वर्तमान उपयोगकर्ता आधार की तो ShareChat और Moj मिलकर 240 मिलियन से अधिक MAU (मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता) होने का दावा करते हैं। इसमें ShareChat पिछले एक महीने में 160 मिलियन MAU (मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता) के साथ उपयोगकर्ताओं द्वारा प्लेटफ़ॉर्म पर 31 मिनट के औसत दैनिक समय बिताने का भी दावा करता है। वहीं कंपनी के अनुसार Moj पर लगभग 34 मिनट दैनिक रूप से बिताने पर उपयोगकर्ताओं के साथ 80 मिलियन MAU से अधिक का आँकड़ा दर्ज किया गया है।

ज़ाहिर है TikTok ने जो बाज़ार बनाकर जितनी संभावनायें पैदा की थीं, अब उन्हीं को ShareChat अपने Moj प्लेटफ़ोर्म के ज़रिए हासिल करने के प्रयास कर रहा है। लेकिन इतना ज़रूर है कि TikTok के बाद भी Instagram Reels और अन्य कई प्लेटफ़ोर्म के चलते कंपनी को इस क्षेत्र में अभी भी बराबर चुनौती मिलेगी। और शायद यही कारण है कि वित्तीय रूप से Moj मज़बूत बनने के प्रयास कर रहा है।

इस बीच इस नई फंडिंग पर टिप्पणी करते हुए, ShareChat के सीईओ और सह-संस्थापक, अंकुश सचदेवा ने कहा,

“ShareChat तेजी से विकास की राह पर है और भारतीय भाषा आधारित यह सोशल मीडिया प्लेटफ़ोर्म अभी और भी तेज़ी से बढ़ता नज़र आएगा। इसके साथ ही हमारा शॉर्ट-वीडियो प्लेटफ़ॉर्म Moj अपने लॉन्च के बाद से ही तेज़ी से उपयोगकर्ताओं को बढ़ते देख रहा है और इस आए निवेश के बाद अब हम मशीन लर्निंग क्षमताओं से लेकर क्रीएटर्स को शामिल करने तक में मदद हासिल कर पाएँगें।”

“ShareChat और Moj मिलकर देश के कांटेंट तंत्र में बहुत बड़ा योगदान दे रहें हैं और साथ ही साथ हम अपने उपयोगकर्ताओं को एक शानदार अनुभव प्रदान करते हैं। और उन्हें ब्रांडों आदि से जुड़ने में भी सहूलियत प्रदान करते हैं। मैंने हमारे निवेशक, साथी और सभी टीम के सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ जो हमारे विकास की कहानी का हिस्सा रहें हैं।”