tesla

दुनिया की सबसे मूल्यवान वाहन निर्माता कंपनी Tesla अब दुनिया के चौथे सबसे बड़े ऑटोमोबाइल बाजार में अपनी उपस्थिति दर्ज करने की कोशिश कर रही है। पर इसमें एक पेंच हैं, अक्सर कंपनी के मालिक Elon Musk भारत में ‘प्रतिबंधात्मक नीति’ के माहौल का हवाला देते रहे हैं, और शायद यही कारण भी रहा है कि अब तक उनकी इलेक्ट्रिक कार बाजार में प्रवेश करने को लेकर अनिश्चित नज़र आती हैं।

लेकिन अब ऐसा लगता है कि कंपनी आख़िरकार मौजूदा हालतों को देखते हुए इसका लाभ उठाना चाहती है और इसी संदर्भ में अब इसने तेज़ी से बढ़ते भारतीय बाजार ऐन प्रवेश करने का मन बनाया है। दरसल ईटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ कंपनी देश के कर्नाटक राज्य में एक ‘रिसर्च एंड डेवलपमेंट’ केंद्र स्थापित करने को लेकर बातचीत कर रही है।

Tesla कथित तौर पर भारत की सिलिकॉन वैली कहे जाने वाले बैंगलोर में RnD केंद्र स्थापित करने के लिए कर्नाटक राज्य सरकार से वार्ता कर रही है।

दिलचस्प यह है कि देश के स्टार्टअप हब के रूप में पहचाने जाने वाला यह शहर पहले से ही कुछ बड़े ऑटो मेकर्स के RnD केंद्रों का गढ़ है। उदाहरण के लिए, शहर में अमेरिका के बाहर General Electric की सबसे बड़ी लैब John F. Welch Technology Centre (JFWTC) मौजूद है।

साथ ही शहर देश में IBM और Samsung सहित क़रीब 400 वैश्विक दिग्गज़ कंपनियों का प्रमुख गढ़ है, जिन्होंने इस शहर में ही अपनी तमाम सुविधाएं स्थापित की हैं।

यह क़दम अगर सफ़ल होता है तो ज़ाहिर तौर पर Tesla का भारत में यह पहला अधिकारिक प्रवेश होगा। और ख़ास यह है कि इस इलेक्ट्रिक ऑटोमोबाइल कंपनी के लिए यह एक ऐसा देश होगा जहाँ अभी बहुत अधिक प्रतिस्पर्धा देखने को नहीं मिलने वाली है।

इस बीच सरकारी विभाग के अधिकारियों ने बिना पहचान का ख़ुलासा करे जाने बिना यह कहा कि “कंपनी द्वारा पहला प्रस्ताव RnD केंद्र को लेकर है और हमारे पहले से ही कम से कम दो दौर की चर्चाएं कर चुक हैं।”

इसके साथ ही अटकलें लगाई जा रहीं हैं कि Tesla India के प्रमुख और और कर्नाटक के उद्योग आयुक्त इस महीने के अंत तक एक बैठक आयोजित कर सकतें हैं।

ज़ाहिर है Elon Musk पिछले एक साल से भारत में प्रवेश करने को लेकर काफ़ी तेज़ी से प्रयास कर रहें हैं, लेकिन कई नीतियों का हवाला देते हुए कहीं न कहीं अब तक वह अपने क़दम मज़बूती से नहीं उठा रहे थे।

इसी बीच उन्होंने जुलाई में ज़िक्र किया था कि जल्द ही Tesla की लग्जरी इलेक्ट्रिक कारें भारत में आती नज़र आएगी। इस बीच आपको बता दें कई सूत्रों का दावा है कि Tesla ने इसको लेकर पहले ही दो दौर की चर्चा पूरी कर ली है।