देश के ई-कॉमर्स बाजर से जुड़ी एक बड़ी ख़बर (फ़िलहाल अटकल) ने आज कई लोगों को हैरान किया। दरसल Reuters में सूत्रों के हवाले से प्रकाशित की गई एक रिपोर्ट के अनुसार Walmart के मालिकाना हक़ वाली भारतीय ईकॉमर्स दिग्गज Flipkart जल्द ही IPO फ़ाइल करने की तैयारियाँ कर रही है। कथित रूप से Flipkart $50 बिलियन के वैल्यूएशन पर सिंगापुर या अमेरिका में IPO फाइल करने की कोशिश में है।

सूत्रों का कहना है कि Flipkart असल में सिंगापुर में ही औपचारिक रूप से बनाई गई है। लेकिन अब अमेरिका, जहाँ पहले से ही इसकी पैरेंट कंपनी Walmart का मुख्यालय है, में IPO फ़ाइल करना इसको और अधिक और बड़े निवेशकों तक पहुंच प्रदान कर सकता है।

वहीं कंपनी के करीबी सूत्रों के अनुसार Flipkart के अधिकारियों ने पहले से ही IPO को लेकर मीटिंग आदि में चर्चा शुरू कर दी है। और सूत्रों की ख़बर को सही मानें तो कंपनी असल में वर्तमान महामारी के संकट के ख़त्म होने के बाद 2021 या 2022 तक IPO फ़ाइल कर सकती है।

दरसल यह एक कदम तब आया है जब भारत सरकार ने इस साल मई में नई नीतियों और नए नियमों का ऐलान किया था, जिसके तहत अब भारतीय कंपनियां सीधे विदेश में IPO फ़ाइल कर सकती हैं। बता दें इन नए नियमों को मार्च में मंजूरी दी गई थी और इसका आग़ाज़ असल में देश के कारोबार क्षेत्र को और आसान बनाने की पहल के ही एक हिस्से के रूप में किया गया है।

इस बीच ख़बर यह भी है कि कंपनी में अभी इसको लेकर व्यापक आंतरिक चर्चा की जा रही है और कंपनी इसमें मदद के लिए कुछ बाहरी साथियों की भी मदद ले सकती है।

आपको याद दिला दें Walmart ने 2018 में $16 बिलियन की भारी भरकम राशि के साथ भारतीय ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म Flipkart में 77% की हिस्सेदारी ख़रीदी थी, और तभी Walmart ने यह कहा था कि वह आगामी 4 सालों में Flipkart को IPO के लिहाज़ से तैयार करेगी। बता दें Flipkart और Walmart के बीच हुई यह डील असल में देश में अब तक की सबसे बड़ी एकल विदेशी निवेश डील में से एक है।

दरसल जहाँ भले ही घरेलू बाज़ार में Flipkart एक मज़बूत नाम स्थापित करने में कामयाब रहा है, वही दूसरी ओर यह भी सच है कि हाल ही में Reliance का अपने Reliance Retail और JioMart में तेज़ी से बढ़ता निवेश और प्रसार Amazon और Flipkart के लिए थोड़ा भय ज़रूर पैदा कर रहा है।

ज़ाहिर है JioMart भारतीय बाजार में बढ़ती प्रतिस्पर्धा का कारण बनता नज़र आएगा और अब तो इसने फैशन और इलेक्ट्रॉनिक्स श्रेणी में भी अपने विस्तार का ऐलान कर दिया है। हाल ही में जुलाई में Walmart के मालिकाना हक़ वाले ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म Flipkart ने अपनी मूल कंपनी के नेतृत्व में नए निवेशों के तौर पर $1.2 बिलियन हासिल किए थे और तब इसकी वैल्यूएशन $24.9 बिलियन आँकी गई थी।