ऐसा लगता है मानों Facebook ने भारत में हाल ही काफ़ी तेज़ी से ख़राब होती चली गई अपनी छवि को अब सुधारने का मन बना लिया है। और इसी कड़ी में आज Facebook ने दिल्ली, गुड़गांव, मुंबई, हैदराबाद और बैंगलोर में 3000 से अधिक व्यवसायों के लिए $4.3 मिलियन के अनुदान की घोषणा की है।

आपको बता दें यह अनुदान असल में इस साल मार्च में Facebook द्वारा वैश्विक स्तर पर घोषित किए गये $100 मिलियन के अनुदान का एक हिस्सा है जिसे कंपनी ने छोटे व्यवसायों को COVID-19 महामारी के चलते आई आर्थिक मंदी से बचाने के लिए देने का ऐलान किया था।

इसको लेकर Facebook India के प्रमुख, अजित मोहन ने कहा;

“अनुदान प्रोग्राम सभी उद्योगों और क्षेत्रों के छोटे व्यवसायों के लिए खुला है, और व्यवसायों को आवेदन करने के लिए Apps में उपस्थिति आदि की ज़रूरत भी नहीं है। इसके साथ ही वह इस अनुदान में प्राप्त राशि को किसी भी तरीक़े से इस्तेमाल करने के लिए स्वतंत्र हैं।”

इस बीच आपको बता दें COVID-19 से प्रभावित छोटे व्यवसायों की मदद के लिए Facebook और Instagram ने Gift Card की भी शुरुआत की है। अजीत मोहन की मानें तो;

“यह Gift Card छोटे व्यवसायों को अधिक संभावित ग्राहकों तक ऑनलाइन पहुंचने में मदद करेंगे। छोटे स्टोरों को नकदी प्रवाह प्राप्त करने में मदद मिलेगी और वह भी ऐसे वक़्त में जब उन्हें इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है, और जब भौतिक स्टोर बंद होने के कगार पर हैं।”

आपको बता दें SMB सर्वे के अनुसार Facebook India पर 41% ऑपरेशनल SMBs ने बताया कि उनकी बिक्री का कम से कम एक चौथाई हिस्सा डिजिटल रूप से आता है। और शायद इसलिए कंपनी को उम्मीद है कि इस नए कदम से व्यवसायों को नए, आकर्षक प्रस्तावों के चलते अपनी उपस्थिति को और बढ़ाने में मदद मिलेगी।

इस बीच कंपनी ने अपनी State of Small Business Report का भी ऐलान किया, जिसके तहत भारत समेत दुनिया भर में छोटे और मध्यम आकार के व्यवसायों (SMBs) पर COVID-19 के प्रभाव का अध्ययन किया जाएगा। इस काम में Facebook, Organisation for Economic Co-operation and Development (OECD), और World Bank मिलकर सर्वे कार्य किया है। इस रिपोर्ट के अनुसार Facebook India पर लगभग एक तिहाई SMBs ने कोरोनवायरस के प्रभावों के चलते नकदी प्रवाह में चुनौती का सामना किया है। और इसलिए Facebook को उम्मेद है कि Gift Card समेत यह अनुदान भारतीयों उद्यमियों और छोटे व्यवसाय के मालिकों को कुछ राहत देगा, जो देश के पूरे जीडीपी का एक बड़ा हिस्सा बनाते हैं।

इस बीच अप इस अनुदान के बारे में अधिक जानने और आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें!