modi

Twitter हैक की घटनायें हाल ही में कुछ अधिक ही सामने आ रहीं हैं और ज़्यादा डरावना यह है कि इसके शिकार दुनिया भर के कई बड़े राजनीतिक और बिजनेस वर्ग से जुड़े व्यक्ति भी हो रहें हैं।

इसी कड़ी में गुरुवार को Twitter ने अधिकारिक रूप से पुष्टि करके बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्यक्तिगत वेबसाइट से जुड़ा Twitter अकाउंट जुलाई हैक हो गया था।

आपको बता दें John Wick नामक हैकरों के एक ग्रुप द्वारा इसके हैक किए जाने की बात कही जा रही है। इसके पहले जुलाई में भी इस माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर साइबर ब्रीच के बाद एक हाई प्रोफाइल हैक की घटना हुई थी।

लेकिन उस घटना और इस हैक में एक समानता यह रही कि हैकर ने इस हैक को अंजाम देने के बाद प्रधानमंत्री के अकाउंट से ही क्रिप्टोकरेन्सी सम्बंधित Tweet किया। दरसल हैक के बाद पीएम मोदी के इस सत्यापित Twitter हैंडल से कुछ Tweets किए गये जिनमें कहा गया कि लोग BitCoins के ज़रिए COVID-19 के चलते बनाए गये प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करें। Tweet में लिखा गया;

“यह अकाउंट John Wick (hckindia@tutanota.com) द्वारा हैक किया गया है। हमनें Paytm Mall को हैक नहीं किया है।”

दरसल 30 अगस्त को साइबर सिक्योरिटी फर्म Cyble ने यह दावा किया था कि हैकर ग्रुप John Wick ने Paytm की ई-कॉमर्स इकाई Paytm Mall में “बड़े पैमाने पर” डेटा ब्रीच को अंजाम दिया है। Cyble ने कहा था कि इस हैकर ग्रुप ने कंपनी के डेटाबेस तक पहुंच प्राप्त कर ली थी, लेकिन Paytm ने इन आरोपो को अस्वीकार कर दिया था।

इस बीच इस चौका देने वाली घटना के पहले भी जुलाई में एक हैकर ग्रुप ने Twitter ने इंटरनल सिस्टम में सेंधमारी कर कंट्रोल अपने हाथ में लेते हुए Warren Buffett, Jeff Bezos, Barack Obama, Joe Biden, Bill Gates, और Elon Musk जैसे नामी लोगों के Twitter अकाउंट को हैक कर लिया था और उनकी प्रोफ़ायल से Bitcoin का इस्तेमाल करके पैसे देने संबंधी Tweets किए थे।

लेकिन इतना ज़रूर है कि Twitter ने साफ़ कर दिया है कि प्रधानमंत्री के Twitter अकाउंट हैक होने की यह घटना जुलाई में हुई घटना से संबंधित नहीं नहीं और इन दोनों के बीच किसी संबंध के कोई संकेत या सबूत फ़िलहाल नज़र नहीं आते हैं।