tata-group-to-launch-fast-satellite-broadband-services-in-india

भारत के बेंगलुरु स्थित Pixxel अपने पहले पृथ्वी इमेजिंग उपग्रह को इस साल के अंत में, एक Soyuz रॉकेट के माध्यम से लॉन्च करने के लिए तैयार हो रहा है। लगभग डेढ़ साल पुरानी यह कंपनी तेज़ी से आगे बढ़ रही है। और ऐसे में अब कंपनी को वित्तीय रूप से भी निवेशकों का भरोसा मिलने लगा है।

दरसल TechCrunch की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ आज इस स्टार्टअप ने $5 मिलियन के सीड राउंड को पूरा करने का ऐलान किया है। आपको बता दें इस फ़ंडिंग दौर के नेतृत्व Blume Ventures, Lightspeed India Partners, और GrowX Ventures के साथ ही साथ एंजेल निवेशकों ने भी किया।

बता दें Pixxel के लिए यह कोई पहली फंडिंग नहीं है। इसके पहले भी इसने पिछले साल Techstars और अन्य से प्री-सीड दौर में $700,000 जुटाए थे।

लेकिन जिस क्षेत्र से यह स्टार्टअप जुड़ा है, उसमें स्टार्टअप ने अपनी टीम को विकसित करने और आगे की योजनाओं पर काम करने के लिए अब प्राप्त राशि काफ़ी मददगार होगी।

इस कंपनी का लक्ष्य 2022 तक 30 उपग्रहों की तैनाती का है। जब एक बार कंपनी के सभी छोटे उपग्रह ऑर्बिट में होंगे, तो Pixxel नेटवर्क एक दैनिक रूप से ग्लोब-स्पैन इमेजिंग क्षमताओं को प्रदान करने की पेशकश कर सकेगा।

साथ ही स्टार्टअप का दावा है कि इसकी तकनीक आज के मौजूदा पृथ्वी इमेजिंग उपग्रहों की तुलना में कहीं अधिक बेहतर क्वॉलिटी डेटा प्रदान कर सकेगा और जो वैश्विक रूप से एक बड़ा बदलाव ला सकता है।

आपको बता दें Pixxel की तकनीक बहुत छोटे उपग्रहों पर निर्भर करती है। दरसल ये छोटे उपग्रह एक साथ मिलकर बहुत ही हाई क्वॉलिटी तस्वीरें प्रदान करने की क्षमता रखते हैं। यह पहले से मौजूद बड़े इमेजिंग उपग्रह नेटवर्क के लिहाज़ से भी बेहतर हो सकती है।

इस बीच स्टार्टअप के संस्थापक, आवा अहमद और क्षितिज खंडेलवाल फ़िलहाल अभी भी अपने स्नातक अध्ययन के अंतिम वर्ष को पूरा कर रहे हैं। आपको बता दें इस संस्थापक टीम ने पिछले साल लॉस ऐंजलेस में Techstars’ Starubst Space Accelerator में भी भाग लिया था।

1 comment

Comments are closed.