Flipkart ने एक बार फिर से हाइपरलोकल डिलीवरी की ओर अपना रूझन दर्शाते हुए अपनी नयी सेवा ‘Flipkart Quick’ को लॉन्च किया है। हालाँकि अभी यह सुविधा सिर्फ़ बेंगलुरु के चुनिंदा स्थानों के लिए ही पेश की गई है, लेकिन आगामी महीनों में इसको 6 अन्य शहरों में भी शुरू करने की योजना है।

आपको बता दें यह सेवा किराना, डेयरी, मीट, मोबाइल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण, स्टेशनरी आइटम्स और घर संबंधी सामानों की एक विस्तृत श्रृंखला को कवर करेगी। इसके ज़रिए उपयोगकर्ताओं को 2,000 से अधिक उत्पादों की पेशकश केवल 2 घंटों के अंदर ही डिलीवरी के माध्यम से की जा रही है।

उपभोक्ता अगले 90 मिनट में ऑर्डर डिलीवरी की सुविधा चुननें के साथ ही साथ अपनी सुविधा के अनुसार 2 घंटे का कोई भी स्लॉट बुक कर सकते हैं। ग्राहक सुबह 6 बजे से आधी रात के बीच अपने ऑर्डर की डिलीवरी का विकल्प चुन पाएँगें।

लेकिन आपको बता दें Flipkart की इस Flipkart Quick सुविधा का लाभ उठाने के लिए उपयोगकर्ताओं को क़रीब ₹29 का न्यूनतम शुल्क भी अदा करना होगा।

इस दौरान इस लॉंच संबंधी प्रेस रिलीज़ में कंपनी ने कहा;

“भारत के ख़ुद के ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस Flipkart ने आज अपनी तकनीकी क्षमताओं और सप्लाई चेन की क्षमताओं का विस्तार करते हुए अपनी नई हाइपरलोकल सेवा ‘Flipkart Quick’ पेश की है। Flipkart Quick का मक़सद ग्राहकों को डिलीवरी के संदर्भ में एक बेजोड़ अनुभव प्रदान करने का है।”

आपको बता दें फ़िलहाल यह सेवा बेंगलुरु उपनगरों के चुनिंदा क्षेत्र में शुरू होगी, जिसमें व्हाइटफील्ड, पनाथुर, एचएसआर लेआउट, बीटीएम लेआउट, बनशंकरी, केआर पुरम और इंदिरानगर शामिल हैं। बता दें इस Flipkart Quick सुविधा सामान्य पिनकोड के बजाए आपसे डिलीवरी के लिए Latitude and Longitude दर्ज करवाएगा, जो सेवा पेशकश के लिहाज़ से उचित ही है।

दरसल ऐसे में जब Amazon दुनिया के हर कोने में ई-कामर्स क्षेत्र में एकक्षत्र राज कर रहा है, वहीं Flipkart दुनिया भर के सबसे बड़े इंटरनेट बाजारों में से एक यानी भारत में लगातार Amazon को कड़ी चुनौती दे रहा है।

लेकिन अब Flipkart को समझ आ गया है कि Amazon से टक्कर लेने के लिए इसको भी Amazon Prime की टक्कर की विशेष और तेज डिलीवरी सेवा की पेशकश करनी होगी। इसमें संभावनाएँ इसलिए भी ज़्यादा हैं, क्योंकि अब तक Amazon Prime ने पूरे देश में अपना रास्ता नहीं बनाया है।

इस बीच Flipkart के उपाध्यक्ष, संदीप करवा

“यह भारत के लिए एक बेहतरीन मॉडल है क्योंकि भारतीय परिवार ‘हाइपरलोकल सेवाओं’ के नाम से बहुत सहज हैं, जिसमें विक्रेताओं, दुकानदारों और सेवा प्रदाताओं के साथ गहरे, पारिवारिक संबंधों को विकसित करने की प्रवृत्ति होती है, और अब इसमें ई-कॉमर्स भी अपना रोल निभा रहा है।”

“जहाँ हम अपने डार्क स्टोर मॉडल में विक्रेताओं को उपभोक्ता के करीब इन्वेंट्री स्टोर करने में सक्षम बनाते हैं; वही अब इस मॉडल के साथ हम स्थानीय उद्यमिता को भी बढ़ावा देंगें और और नई व्यापार रणनीतियों और साझेदारी करते नज़र आएँगें।”

दिलचस्प यह है कि कंपनी के अनुसार Flipkart Quick के ज़रिए कंपनी अब अपने प्लेटफॉर्म पर अधिक से अधिक किराना स्टोर को ऑन-बोर्ड करेगी, जिससे इस असंगठित क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा।

देखने वाली बात यह है कि कंपनी का हाइपरलोकल डिलीवरी को लेकर एक प्रयास असफल हो चुका है, जो इसने 2015 में Nearby नाम से शुरू किया था, जिसमें कंपनी 60 मिनट के भीतर कुछ सामानों की डिलीवरी का दावा करती थी। लेकिन बाद में काम प्रतिक्रिया के कारण कंपनी को यह सेवा अचानक बंद करनी पड़ी।