भारत में चीन के ख़िलाफ़ बने माहौल का असर अब व्यवसाय जगत में खुलकर दिखने लगा है। और आज ऐसी सिलसले से जुड़ी एक और ख़बर सामने आई है।

दरसल Economic Times की एक रिपोर्ट में यह ख़ुलासा किया गया है कि चीनी टेलीकॉम कंपनी Huawei Technologies Co ने 2020 तक के अपने भारत के राजस्व लक्ष्य में 50% तक की कटौती की है। और अब इसी के चलते वह देश में अपने आधे से अधिक कर्मचारियों की छंटनी करने भी जा रही है।

रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि Huawei ने इस साल अपने भारतीय राजस्व के लक्ष्य को कम करते हुए अब 2020 के लिए राजस्व लक्ष्य $350 – $500 मिलियन का ही रखा है, जो पहले क़रीब $700 – $800 मिलियन का था।

लेकिन सबसे बड़ी ख़बर यह है कि अब अपने लक्ष्य में कटौती का मन बना चुकी Huawei ने अपने अनुसंधान और विकास व वैश्विक सेवा केंद्र से जुड़े कर्मचारियों को छोड़ अन्य भारतीय कर्मचारियों में से 60-70% की छँटनी का मन बनाया है।

दरसल पिछले महीने से ही सीमा पर तनाव के बढ़ने के चलते भारतीय जवानों की शहादत को देखते हुए देश में चीन के खिलाफ एक व्यापाक माहौल बन गया है और इसलिए अब देश में चीनी सामानों और सेवाओं के बहिष्कार की लहर सी चल पड़ी है।

आपको बता दें भारत ने टेलीकॉम कम्पनियों से देश में अपने मोबाइल नेटवर्क को 4G में अपग्रेड करने के लिए चीनी दूरसंचार उपकरणों के बजाय स्थानीय रूप से निर्मित चीज़ों के इस्तेमाल पर ज़ोर देने के लिए भी कहा है।

ज़ाहिर है हाल ही में हुआ ऐप बैन और अन्य कई तरह से विरोध के साथ ही साथ प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा Vocal for Local मुहिम के ऐलान के बाद से ही स्वदेशी सामानों की माँग में बढ़ौतरी हुई है और लोगों का रुझान भी काफ़ी बढ़ा है।