हाल ही में हुए लॉकडाउन और चीनी ऐप बैन के चलते भारतीय सोशल मीडिया कंपनियों को काफ़ी तेज बढ़त मिली है। और बढ़त उपयोगकर्ता आधार के साथ ही साथ निवेश के रूप में भी अब सामने आने लगी है।

जी हाँ! इसी कड़ी में अब क्षेत्रीय भाषा आधारित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ShareChat ने भी अब एक ब्रिज राउंड में मौजूदा निवेशकों से $35-$40 मिलियन जुटाए हैं। यह ख़बर असल में ईटी में प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट के Entrackr के हवाले से सामने आई है।

लेकिन यह निवेश इसलिए भी स्वभाविक सा लगता है, क्योंकि कंपनी ने हाल ही में ही अपना नया शॉर्ट वीडियो ऐप Moj किया है, जो देश में अब TikTok के एक व्यापाक विकल्प बनने का मौक़ा तलाश रहा है।

लेकिन दिलचस्प यह है कि ShareChat की ओर से कंपनी के प्रवक्ता ने स्पष्ट तौर पर कहा;

“ShareChat आमतौर पर बाजार की अटकलों पर टिप्पणी नहीं करता है। लेकिन फ़िलहाल चल रही ऐसी ख़बरों का हम खंडन करते हैं, ऐसा कोई भी क़दम अभी नहीं उठाया गया है।”

इस बीच दिलचस्प रूप से ख़बरें यह भी हैं कि ShareChat एक और $200 मिलियन का निवेश दौर जल्द ही पूरा करता नज़र आ सकता है।

इसकी वजह फिर से साफ़ है, दरसल भारत सरकार द्वारा 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के तुरंत बाद ही देश की कई सोशल मीडिया कंपनियों को अपने अपने उपयोगकर्ता आधार को बढ़ाने का सुनहरा मौक़ा मिला है, और हर कोई इसको तरीक़े से भुनाना चाहता है।

आपको बता दें ShareChat के मौजूदा निवेशकों में Lightspeed Venture Partners, Saif Partners, Twitter, TrustBridge Partners, India Quotient और Shunwei Capital शामिल हैं।

और अब नए निवेशों के ज़रिए कंपनी देश के भीतर टॉप पर बने रहनें के लिए म्यूजिक लाइसेंस, क्रीएटर्स और मार्केटिंग आदि में भरपूर ख़र्च करना चाहती है।