Jio ने आज की AGM बैठक में कई घोषणाएँ कीं, जिससे यह तो अंदाज़ा हो गया कि कंपनी हाल ही में इतना निवेश क्यों जुटाने के प्रयास कर रही है?

लेकिन इसमें सबसे ख़ास रहा Jio Glass, जो कि इंटरनेट को सर्फ़िंग के बजाए ’लाइव’ इस्तेमाल करने का तरीक़ा है।

यह Augment Reality Glass एक तार के माध्यम से आपके फोन से जुड़ सकता है, जिस पर उपयोगकर्ता 25 विभिन्न ऐप का इस्तेमाल

कर सकतें हैं और VR जैसे अनुभव के साथ इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकतें हैं। Google Glass के विपरीत यह Jio Glass असल में काफ़ी साधारण सा नज़र आता है, जिससे लोग शायद आपको अजीब निगाहों से ना देखें।

कंपनी के द्वारा दर्शाए गये डेमो में इस चश्मे की शक्ति का प्रदर्शन किया गया, जिसके तहत पहनने वाला अपने सहयोगियों के साथ बातचीत कर रहा था, जो ख़ुद ग्लास में थे। इतना ही नहीं बल्कि एक होलोग्राफिक वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रतिभागियों के अवतार को 3D में भी देखा जा सकता है। साथ ही एक सामान्य वीडियो कॉल की तरह आप 2D में भी कॉल कर सकतें हैं।

इसके साथ ही आप कॉल के दौरान एनिमेशन या कुछ ड्रॉ करने में भी सक्षम होंगें। इतना ही नहीं बल्कि यह चश्मा आपको अपने घर बैठे ताजमहल का दौरा भी कर सकतें हैं। ज़ाहिर सी बात है COVID-19 के चलते बने हालातों में यह एक कमाल का फ़ीचर है। और साथ ही इस तरह से आप घर बैठे बच्चों को भूगोल सिखाने के लिए इस शानदार तरीक़े का इस्तेमाल कर सकतें हैं।

इसको लॉंच करते हुए Reliance Jio के निदेशक आकाश अंबानी ने कहा;

“Jio Glass शिक्षकों और छात्रों को 3D वर्चुअल रूम में एक साथ आकार Jio मिश्रित रियलिटी क्लाउड के ज़रिए होलोग्राफिक क्लास संचालित करने की सहूलियत भी देता है।”