जिस बात की काफ़ी समय से अटकलें लगाई जा रहीं थीं, आज Reliance के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने ख़ुद उस पर मोहर लगा दी। जी हाँ! दरसल आज मुकेश अंबानी ने यह ऐलान करते हुए कहा कि Google जल्द ही Jio Platforms में 7.7% हिस्सेदारी के बदले $4.5 बिलियन का निवेश करेगा।

ज़ाहिर सी बात है कि इस सौदे के पूरे होते ही Google देश की दिग्गज़ टेलीकॉम कंपनी Jio Platforms में तीसरी सबसे बड़ी शेयरधारक बन जाएगी।

दरसल कुछ ही दिन पहले Google ने भारत में डिजिटल विस्तार को बढ़ावा देने के लिए $10 बिलियन का निवेश करने का ऐलान किया था। और अब इस डील को भी उसी ऐलान के एक हिस्से के रूप में देखा जा रहा है।

ख़ास बात यह है कि इस डील के एक हिस्से के रूप में Google और Jio Platforms मिलकर एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम और प्ले स्टोर के अनुकूलन एक एंट्री-लेवल किफायती स्मार्टफोन विकसित करने का काम करेंगें।

आपको बता दें Jio ने अमेरिकी टेक दिग्गज Facebook ने सबसे फले $5.7 बिलियन का निवेश करके 9.99% इक्विटी हासिल की थी। और ज़ाहिर सी बात है ऐसे में Google भी भला वैश्विक स्तर पर इंटरनेट में अपने एक बड़े प्रतिद्वंदी Facebook से पीछे क्यों रहता? वह भी भारत जैसे अहम बाज़ार में?

इतना ही नहीं बल्कि हाल ही में ही Jio ने अपने निवेशकों की लिस्ट में Intel और Qualcomm जैसे दिग्गज़ चिपमेकर और एक दूसरे की प्रतिद्वंदी कंपनी को शुमार किया जो आमतौर पर काफ़ी कम ही देखनें को मिलता है। लेकिन इससे एक बात तो साफ़ हो जाती है कि भारत में इंटरनेट बाज़ार की अपार संभावनाओं को भुनाने के लिए Jio एक बड़ा खिलाड़ी बैन चुका है और इसलिए दुनिया भर की हर कंपनी इसमें अपना दाँव खेलना चाहती हैं।

Google के नए निवेश के साथ Jio क़रीब 3 महीनों में ही $20 बिलियन की फ़ंडिंग हासिल करने वाली कंपनी बनने की ओर बढ़ रही है।

जानकार कहटें हैं कि Jio असल में अब चीन की दिग्गज़ कंपनी Alibaba की तर्ज़ पर भी एक बड़ा ग्रुप बनने की ओर अग्रसर है, जो ऑनलाइन रिटेल, कंटेंट स्ट्रीमिंग, डिजिटल पेमेंट, एजुकेशन एंड हेल्थ केयर, क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर, एंटरप्राइज टेक सहित अन्य क्षेत्रों में भी अपनी पैंठ रखेगा।

इसके साथ ही कंपनी ने हाल ही में JioTVPlus (सभी ओटीटी प्लेटफार्मों तक पहुंच के साथ एक एकीकृत स्ट्रीमिंग सेवा), Jio Glass (एक मिश्रित वर्चूअल रियलिटी हेडसेट) और JioMeet को लॉंच किया है।

1 comment

Comments are closed.