TikTok के लिए भारत में एक दुर्भाग्यपूर्ण चुनौती सामने आ खड़ी हुई है, और अब कम्पनी ने इसका समाधान तलाशने के लिए हर मुमकिन कोशिश करने का फ़ैसला कर लिया है।

और इसी कड़ी में अब TikTok अब सभी स्टेकहोल्डर्स आदि के साथ मिलकर इस समस्या का हाल तलाशने का प्रयास कर रहा है। आपको बता दें ईटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ यह बात TikTok के सीईओ, Kevin Mayer ने भारत में कर्मचारियों के साथ किए गये एक वीडियो टाउनहॉल के दौरान कही।

आपको बता दें भारत ने कुछ ही दिन पहले डेटा गोपनीयता सुरक्षा संबंधी चिंताओं का हवाला देते हुए 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। और ज़ाहिर है इसमें सबसे बड़ा नाम शामिल है Bytedance के मालिकाना हक़ वाले TikTok का और साथ ही इसके साथ ऐप Helo का भी।

आपको बता दीं इन दोनो कम्पनियों के लिए भारत को चीन के बाहर सबसे बड़े बाज़ार के रूप में देखा जाता है और इसलिए kampaniyon द्वारा इतनी चिंता व्यक्त करना लाज़मी नज़र आता है। आपको बता दें रिपोर्ट के मुताबिक़ भारत में TikTok के 200 मिलियन उपयोगकर्ता हैं।

इस विषय पर Disney Plus के पूर्व प्रमुख और वर्तमान में TikTok के सीईओ, Kevin Mayer ने कहा;

“TIkTok भारतीय कानून के तहत सभी डेटा गोपनीयता और सुरक्षा आवश्यकताओं का पालन करता है और करता रहेगा, उपयोगकर्ताओं की प्राइवेसी और उसकी सुरक्षा हमारे लिए सबसे अहम है।”

साथ ही उन्होंने कहा कि ये काफ़ी अहम समय है और कंपनी अपने TikTok क्रीएटर्स कम्यूनिटी के हितों के लिए प्रतिबद्ध है, और उन्हें इस अंतरिम आदेश के बदलने तक हर तरह की मुमकिन मदद देती रहेगी। उनके बयान के अनुसार;

“हमारे क्रीएटर्स मैनेजर सक्रिय रूप से हमारे शीर्ष क्रीएटर्स के साथ जुड़े हुए हैं और उन्हें हर एक अपडेट प्रदान कर रहें हैं।”

कम्पनी के अनुसार TikTok ने भारत के कलाकारों, कहानीकारों, शिक्षकों, और अन्य कलाकारों के रचनात्मक कार्यों का आनंद लेने के लिए करोड़ों उपयोगकर्ताओं को आसान सी सहूलियत प्रदान की है, और साथ ही उनके लिए कमाई के नए रास्ते भी खोले हैं।

कम्पनी के सीईओ के अनुसार कर्मचारी ही कंपनी की सबसे बड़ी ताकत हैं, और उनकी भलाई और हितों की रक्षा कंपनी की पहली प्राथमिकता। इसलिए 2,000 से अधिक कर्मचारियों को आश्वासन दिया गया है कि सेवाओं को वापस से शुरू करने की हर संभव कोशिश की जा रही है।