कल ही हमनें आपसे कहा था कि स्टार्टअप ईकोसिस्टम में एक बार फिर से निवेश आदि से जुड़ी सुर्ख़ियाँ अपनी जगह बनाने लगी हैं। और अब इसी सिलसिले को जारी रखते हुए इस बार सुर्ख़ियाँ बटोरी हैं को-वर्किंग स्टार्टअप 91springboard ने।

जी हाँ! आपको बता दें 91springboard ने अपने मौजूदा निवेशकों से ताज़ा ₹45 करोड़ का निवेश हासिल किया है। इस निवेश दौर में शामिल होने वाले निवेशकों में सिंगापुर की मार्केटिंग टेक्नोलॉजी कंपनी Freakout और जापान का Shinsei Bank शामिल है।

ज़ाहिर है यह निवेश कंपनी के लिए वैसे ही अहम होता, लेकिन COVID-19 के चलते बने हालातों को देखते हुए यह बहुत भी महत्वपूर्ण हो गया है। दरसल कंपनियों ने फ़िलहाल ऑफ़िस स्पेस आदि का कम से कम इस्तेमाल शुरू कर दिया है और अपने मौजूदा ऑफ़िस स्पेस को लेकर भी किरायों में रियायत की माँग कर रही हैं। इतना ही नहीं बल्कि मौजूदा कई कम्पनियों ने अपने ऑफ़िस स्पेस में कटौती तक कर दी है, क्योंकि अधिकतर लोगों को कम्पनियाँ घर से ही काम करने की इजाज़त दे रहीं हैं।

बहरहाल! इस बीच 91springboard ने कहा है कि लॉकडाउन में मिली ढील के चलते इसने भारत भर में अपने 27 को-वर्किंग में से 14 को फिर से खोल दिया है। ये 14 को-वर्किंग स्पेस दिल्ली एनसीआर, गुड़गांव, नोएडा, बेंगलुरु, हैदराबाद और गोवा में स्थित हैं।

साथ ही ईटी के एक रिपोर्ट के मुताबिक़ 91springboard की ओर से यह भी कहा गया है कि हमनें अपने को-वर्किंग स्पेस में कम से कम 60% लोगों के लौटने को लेकर प्रतिबद्ध प्रतिक्रिया मिली हैं।

इस बीच रिपोर्ट की मानें तो 91springboard असल में देश की उन चुनिंदा को-वर्किंग स्पेस कम्पनियों में से एक है, जो लाभदायक रही हैं।

लेकिन COVID-19 के चलते स्वाभाविक रूप से सभी कम्पनियों का व्यवसाय प्रभावित हुआ है और ख़ासकर को-वर्किंग स्पेस क्षेत्र में इसका प्रभाव अत्यधिक भी रहा। लेकिन अब इस नए निवेश के साथ कम्पनी कुछ नए उपायों और सुविधाओं को अपनाने के साथ ही वापस से पटरी पर लौटने के प्रयास करती नज़र आ सकती है।

आपको बता दें 2012 में बनी 91springboard के ग्राहकों की लिस्ट में Zomato, OLX, TataSky, Cleartrip, SleepyCat, IndiaMart, Mahindra Retail, Groww, Marsh, Datamatics, 1 MG, Cardekho जैसे बड़े नाम शामिल हैं।