देश में इस वक़्त मौजूदा हालतों को देखते हुए, यह साफ़ हो जाता है कि इस वक़्त हर तरीक़े से बिज़नेस को बचाए रखनें के सफल प्रयास करने वालों में ई-कॉमर्स कम्पनियाँ सबसे आगे हैं।

और अब इसी कड़ी में एक नयी ख़बर यह है कि Amazon और BigBasket ने भी अब कथित तौर पर भारत के पूर्वी राज्य पश्चिम बंगाल में शराब की डिलीवरी संबंधी मंज़ूरी हासिल कर ली है। दरसल यह ख़बर Reuters द्वारा राज्य के शराब नियामक के ज़रिए जारी किए गये एक नोटिस के हवाले से सामने लाई गई है।

Reuters ने आधिकारिक दस्तावेज़ का हवाला देते हुए बताया कि राज्य में शराब के व्यापार के ऑनलाइन रिटेल व्यापार करने के लिए पश्चिम बंगाल राज्य की अधिकृत एजेंसी Beverages Crop. ने राज्यभर में शराब की डिलीवरी के लिए ‘योग्य कंपनियों’ के तौर पर Amazon और BigBasket को चुना है।

इस मंज़ूरी का मतलब साफ़ है कि Amazon को वैल्यूएशन के पैमानें पर दुनिया के तीसरे सबसे बड़े शराब बाज़ार में भी क़दम रखने का मौक़ा मिलेगा।

आपको बता दें भारत में पहले ही फूड डिलीवरी ऐप Swiggy और Zomato कुछ राज्यों में शराब डिलीवरी की सेवा शुरू कर चुकें हैं, क्योंकि मौजूदा हालतों में ये कम्पनियाँ भारत के इस $35 बिलियन के बाजार क्षेत्र से ही अपना राजस्व निकालना चाहती है।

दरसल शराब की होम डिलीवरी, जिसे पारंपरिक रूप से भारत में सामान्य नहीं माना जाता, फ़िलहाल COVID-19 के चलते हुए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान कुछ सबसे बड़े बदलावों में से एक है, और कम्पनियाँ इसको तेज़ी से अपनाती नज़र आ रहीं हैं।

कारण भी है, दरसल क़रीब 2 महीने के सख़्त लॉकडाउन के बाद जब देश भर में आंशिक रूप से ढील दी गई तब देशभर में शराब की दुकानों के बाहर लंबी लंबी लाइदें देखीं गई। यहाँ तक कि तब कई राज्यों ने तो शराब की कीमतों में 70% तक की वृद्धि कर दी थी।

वहीं लॉकडाउन के चलते काफ़ी घाटा सह रहीं ई-कॉमर्स कंपनियों ने शराब की होम डिलीवरी में काफ़ी सम्भावनाएँ देखीं और इसलिए Zomato और Swiggy से तुरंत ही तमाम राज्य सरकारों से इसकी मंज़ूरी के लिए अनुरोध भी किया और बाद में कई जगह उन्हें मंज़ूरी मिल भी चुकी है।