भारतीय हार्डवेयर बाज़ार में टेलीविज़न क्षेत्र काफ़ी तेज़ी से बदल रहा है। दरसल अब कम्पनियों में किफ़ायती दामों पर स्मार्ट टीवी उपलब्ध करवानें की होड़ सी लगी हुई है। और इसको देखते हुए इस क्षेत्र में हर स्तर पर पार्ट्स से लेकर फ़ाइनल प्रोडक्ट तक बनाने की होड़ सी छिड़ गई है।

और अब इस भारतीय क्षेत्र में दो प्रमुख तकनीकी ब्रांडों Samsung और OnePlus ने भी क़दम रखा है। दरसल Samsung और OnePlus ने अब भारत में ही स्थानीय रूप से अपने अधिकांश टीवी सेट के निर्माण करने का फैसला किया है। माना जा रहा है कि ये कम्पनियाँ सप्लाई चेन में संभावित व्यवधान को रोकने और ज़ीरो-इंपोर्ट ड्यूटी जैसे नियमों का फ़ायदा लेने के लिए भी यह क़दम उठाने जा रहीं हैं।

दिलचस्प यह है कि केंद्र सरकार द्वारा ‘आत्मनिर्भर भारत’ पहल की घोषणा के कुछ दिनों भीतर ही ऐसी कई कम्पनियों ने स्थानीय उत्पादन और लोकल स्तर पर ही सप्लाई चेन को मज़बूत करने की अपनी अपनी मंशा ज़ाहिर की है। और इसी के तहत देश का सबसे बड़ा टेलीविजन ब्रांड Samsung अब भारत में बिकने वाले टेलीविजन का 85-90% हिस्सा भारत में ही बनाता नज़र आएगा।

आपको बता दें यह ख़बर ईटी की एक रिपोर्ट के अनुसार कम्पनी के कुछ अधिकारियों के अनुसार यह सामनें आया है कि Samsung और OnePlus दोनों ने चीन की Skyworth कंपनी से साझेदारी की है, जिसके तहत यह कम्पनियाँ Skyworth के हैदराबाद प्लांट में टेलीविजन सेटों के निर्माण जो अंजाम देती नज़र आएँगी।

इसके साथ ही Samsung ने 43 से 58 इंच तक के स्मार्ट टीवी मॉडल को शामिल करने के लिए घरेलू निर्माता Dixon Technologies के साथ अपने मौजूदा कॉंट्रैक्ट का विस्तार किया है। बता दें Dixon अब तक Samsung के लिए भारत में 32और 43 इंच के मॉडल का निर्माण कर रहा था। लेकिन अब Skyworth Samsung के लिए 32 और 43 इंच मॉडल का उत्पादन करता नज़र आएगा।

लेकिन वहीं बात करें OnePlus की तो यह पहली बार है देश में इस क्षेत्र में क़दम रखने के बाद भारत में ही अपने टेलीविजन का निर्माण करता नज़र आएगा। कंपनी की मानें तो वह फ़िलहाल छोटे स्क्रीन साइज को शामिल करने के लिए देश में अपने टेलीविजन पोर्टफोलियो का विस्तार करने की योजना बना रही है।

लेकिन सबसे दिलचस्प बात यह है कि Samsung ने 2018 में भारत में टीवी उत्पादन बंद कर दिया था, जिसकी वजह टीवी पैनल आदि में सरकार द्वारा लगाया गया भारी टैक्स था। इसलिए कम्पनी ने इसके बजाय मुक्त व्यापार समझौते के रास्ते वियतनाम से तैयार उत्पादों को ज़ीरो-इम्पोर्ट ड्यूटी के साथ आयात करना शुरू किया था।

लेकिन अब जब सरकार ने पिछले साल ओपन-सेल पैनल पर डयूटीज को फिर से ज़ीरो कर दिया है। आपको बता दें ओपन-सेल टेलीविज़न की विनिर्माण लागत का लगभग 70% भाग होता है, इसलिए यह बेहद अहम हो जाता है।

इस बीच आपको बता दें जहाँ एक तरफ़ OnePlus अभी भी चीन में ही अपना टीवी प्रोडक्शन कर रहा है, वहीं LG, Sony, Xiaomi और Panasonic जैसे सभी प्रमुख टीवी निर्माता ब्रांड भारत में पहले से ही इनका प्रोडक्शन करते आ रहें हैं।

ख़ास यह भी है कि COVID-19 लॉकडाउन के बाद टीवी बाजार में उछाल दर्ज किया गया है। पिछले महीने पूर्व साल के मुक़ाबले बिक्री में 35-50% की वृद्धि हुई। इतना ही नहीं बल्कि Sony, Samsung और Panasonic जैसी कंपनियों ने कहा कि उन्होंने बड़े स्क्रीन मॉडल में 1.5 से 2 गुना अधिक बिक्री दर्ज की है।