whats-an-esim-how-can-reliance-jio-users-get-one

आख़िकर! पिछले सात हफ्तों में रिलायंस के स्वामित्व वाले Jio Platforms नें अपना 8वाँ निवेश भी हासिल कर लिया। और हर बार की तरह इस बार भी निवेश की राशि काफ़ी बड़ी है।

जी हाँ! दरसल इस बार Abu Dhabi Investment Authority ने मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाले Jio Platforms में $651.5 मिलियन का निवेश किया है, और इस बार भी यह निवेश कम्पनी की वैल्यूएशन को $65 बिलियन आँकते हुए किया गया है।

इस नए निवेश दौर के साथ ही इस टेलीकॉम दिग्गज़ ने पिछले सात हफ्तों में कुल 8 राउंड में $13 बिलियन की राशि अर्जित कर ली है। कम्पनी ने यह निवेश 7 निवेशकों से प्राप्त किया है, जिसमें Facebook, General Atlantic, KKR, Silver Lake, Vista Equity Partners, Mubadala और अब ADIA शामिल है।

आपको बता दें ADIA ने यह निवेश Jio Platforms में 1.16% इक्विटी हिस्सेदारी के अधिग्रहण के रूप में किया है। और अब इस निवेश के साथ Jio Platforms ने कुल मिलाकर ₹97,885.65 करोड़ ($13 बिलियन) जुटाए हैं।

अकेले इस हफ़्ते में ही Jio Platforms ने Mubadala, मौजूदा निवेशक Silver Lake और अब ADIA से $2.5 बिलियन से अधिक की राशि प्राप्त की है।

इस ने निवेश को लेकर Reliance Industries के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, मुकेश अंबानी ने कहा;

“मुझे खुशी है कि दुनिया भर में सफल निवेश के चार दशकों से अधिक के ट्रैक रिकॉर्ड के साथ ADIA अब Jio Platforms में भी भागीदारी कर रहा है, और इसके साथ ही हम भारत में डिजिटल विकास के और अवसर पैदा कर पाएँगें।”

आपको बता दें अबू धाबी के साथ अंबानी के व्यापारिक संबंध गहरे होने का एक प्रमुख कारण उनका तेल और पेट्रोकेमिकल व्यवसाय हैं। Middle East हमेशा से अंबानी के प्रमुख Reliance Industries व्यवसाय के लिए एक सक्रिय भागीदार रहा है।

हाल ही में Saudi Amraco ने Reliance Industries में 20% हिस्सेदारी लेने की घोषणा की थी। जिसके बाद से ही Mubadala और ADIA द्वारा Jio में निवेश स्वाभाविक नज़र आने लगा था।

यह सभी निवेश इसलिए भी अहम हो जातें हैं, क्योंकि Jio Platforms ने ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, स्मार्ट डिवाइसेस, क्लाउड एंड एज कंप्यूटिंग, बिग डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स, वर्चूअल रीऐलिटी और ब्लॉकचैन जैसी तकनीकों को भी अपने डिजिटल इकोसिस्टम का हिस्सा बनानें के प्रयास तेज़ कर दिए हैं।

यहाँ तक कि कम्पनी की ओर से एक अधिकारिक बयान में कहा गया;

“Jio असल में देश के छोटे व्यापारियों, व्यवसायों और किसानों सहित 1.3 बिलियन लोगों के लिए डिजिटल इंडिया का बराबरी से विकास करना चाहता है, ताकि सब तक इन सुविधाओं की पहुँच सुनिश्चित की जा सके।”

ज़ाहिर है, कम्पनी का मुख्य प्रोडक्ट उसका हाल ही में ही देशभर के कई शहरों में अधिकारिक रूप से पेश किया गया ई-कॉमर्स प्लेटफ़ोर्म JioMart है। दरसल इसी प्लेटफ़ोर्म को Jio को लगातार मिल रहें निवेशों की बुनियाद बताया जा रहा है, ख़ासकर Facebook द्वारा किए गये निवेश को लेकर।