लीजिए एक और निवेश! से पहचाना हम Jio की ही बात कर रहें हैं। दरसल कल ही Mubadala से $1.2 बिलियन का निवेश हासिल करने वाली Reliance समर्थित Jio Platforms ने अब अपने मौजूदा निवेशक Sliver Lake से $600 मिलियन का अतिरिक्त निवेश हासिल किया है।

और अब इस तरह से  Jio Platforms द्वारा जुटाई गई कुल निवेश राशि $12.2 बिलियन हो गई है और सबसे दिलचस्प बात यह कि अधिकतर राशि सिर्फ़ एक महीने के भीतर ही हासिल की गयी है।

आपको बता दें सबसे फले Silver Lake ने लगभग 1.15% इक्विटी हिस्सेदारी खरीदकर टेलीकॉम कंपनी में क़रीब $750 मिलियन का निवेश किया था। लेकिन अब इस नए निवेश के बाद $65 बिलियन के वैल्यूएशन वाले Jio Platforms में Sliver Lake की कुल हिस्सेदारी 2.08% तक हो जाएगी। और जिसके लिए यह Jio में अब तक कुल ₹10,202.55 करोड़ रुपए (~$1.35 बिलियन) का निवेश कर चुकी है।

वहीं इस बीच Reliance ने एक घोषणा में कहा कि

“Jio का मक़सद छोटे व्यापारियों, व्यवसायों और किसानों सहित पूरे देश में 1.3 बिलियन लोगों को डिजिटल इंडिया के साथ जोड़ने का है, ताकि सभी एक साथ विकास में भागीदार बन सकें।”

आपको बता दें इस सौदे में, Morgan Stanley ने Reliance Industries के लिए एक वित्तीय सलाहकार के रूप में काम किया, वही AZB & Partners और Davis Polk & Wardwell ने कानूनी काउंसल के रूप में कम्पनी का साथ निभाया।

साथ ही Silver Lake भी अपने कानूनी काउंसल के रूप Latham & Watkins LLP, Shardul Amarchand Mangaldas & Co और Simpson Thacher & Bartlett LLP के साथ तैयार नज़र आया।

इस मौक़े पर एशिया के सबसे अमीर आदमी और Reliance Industries के प्रबंध निदेशक व अध्यक्ष, मुकेश अंबानी ने कहा;

“Sliver Lake और उसके साथ ही अन्य सह-निवेशक हमारे लिए काफ़ी मूल्यवान साझेदार हैं क्योंकि हम सभी भारतीयों के लाभ के लिए भारतीय डिजिटल तंत्र को विकसित करना और चाहते हैं। हम उनके आत्मविश्वास और समर्थन के साथ-साथ वैश्विक प्रौद्योगिकी निवेश में उनके नेतृत्व का भी लाभ लेते हुए भारतीय डिजिटल सोसाइटी के परिवर्तन को जारी रखेंगे।”

“मैं इस बात पर जोर देना चाहूंगा कि COVID ​-19 महामारी के दौरान पांच सप्ताह के भीतर Jio Platforms ने Silver Lake समेत अन्य निवेशकों से निवेश हासिल कर भारतीय अर्थव्यवस्था को थोड़ा मजबूत समर्थन प्रदान किया है, जो निश्चित रूप से आगे और भी बड़ा होगा।”

वहीं इस निवेश पर बोलते हुए Silver Lake के सह-सीईओ और मैनेजिंग पार्ट्नर, Egon Durban ने कहा;

“हम अपने एक्सपोज़र को बढ़ाने और अपने सह-निवेशकों को ऐसा अवसर प्रदान करने को लेकर काफ़ी ख़ुश हैं। बड़े पैमाने पर उपभोक्ता और छोटे व्यवसायों के लिए उच्च गुणवत्ता और सस्ती डिजिटल सेवाएं प्रदान करना Jio का मुख्य मक़सद है। और Jio द्वारा लगातार हासिल किया जा रहा निवेश इसके व्यवसाय मॉडल को ख़ुद ही मान्यता देता है और साथ ही दुनिया की सबसे बड़ी टेक्नॉलजी कंपनियों में से एक बनने की कम्पनी की क्षमताओं को भी ज़ाहिर करता है।”

आपको बता दें Facebook ने सबसे फले 9.99% हिस्सेदारी के लिए Jio Platforms में $5.7 बिलियन का निवेश किया था। जिसके बाद Sliver Lake, General Atlantic, Vista Equity और KKR जैसे जैसे कुछ बड़े PE और VCs ने कम्पनी में लगातार निवेश किया। और कल ही कम्पनी की निवेशकों की इस सूची में अबू धाबी के Mubadala Investments का भी नाम जुड़ गया था।

इस बीच Jio द्वारा हासिल किया जा रहे निवेश ने भारतीय टेलीकॉम स्पेस में अन्य प्रतिद्वंद्वियों के बीच हलचल पैदा कर दी है। और शायद यही कारण है कि लगातार Amazon और Google द्वार भी क्रमशः Airtel और Vodafone-Idea में निवेश करने संबंधी ख़बर सामनें आ रहीं हैं।