भारत में आजकल एक एप्लिकेशन तेज़ी से लोकप्रिय हो रहा है, जिसका नाम है Remove China Apps, जी हाँ! शायद आपको नाम से ही अंदाज़ा मिल जाए यह ऐप क्या करती है।

दरसल OneTouch AppLabs नामक एक स्व-घोषित “भारतीय स्टार्टअप” द्वारा विकसित Remove China Apps ने मई में अपने लॉंच के 10 दिनों के अंदर ही 1 मिलियन डाउनलोड का आँकड़ा पार लिया। मानों दोनों देशों की विवादित सीमा पर बढ़ते तनाव का फ़ायदा इस ऐप को ही मिला हो।

आपको बता दें इस ऐप के अधिकांश इंस्टॉल्स भारत में ही पाए। लेकिन दिलचस्प यह है कि यह पिछले कुछ दिनों में ऑस्ट्रेलिया में भी काफ़ी तेज़ी से बढ़ रहा है और वहाँ का एंड्रॉइड टूल ऐप कैटेगॉरी में नंबर 5 पर क़ाबिज़ हो गया है।

आपको बता दें इस ऐप का इस्तेमाल काफ़ी सीधे तरीक़े से किया जाता है, आप ऐप को खोल कर स्कैन पर क्लिक करें और यह बता देगा कि आपके फ़ोन पर कोई चीन आधारित ऐप्स है या नहीं? और अगर नहीं है तो यह आपको बधाई संदेश देता है और होने पर उन सभी ऐप्स की सूची।

आपको बता दें भारत चीनी तकनीकी कम्पनियों के लिए हमेशा से एक बड़ा बाज़ार रहा है। Xiaomi और Oppo जैसे ब्रांड भारत में मोबाइल की बिक्री के लिहाज़ से अपना वर्चस्व कायम कर चुकें हैं। ऐसे में इन फ़ोनों पर और अन्य तमाम फ़ोनो पर भी चीन आधारित ऐप ख़ूब इस्तेमाल की जा रहीं हैं।

लेकिन इस बीच चीन को लेकर भारत ने कई कड़े रूख अपनाएँ हैं, जैसे चीन के रैवैए को देखते हुए सरकार ने हाल ही में या फ़ैसला किया था कि अब चीन से भारतीय स्टार्टअप्स में होनें वाले सभी निवेशों के लिए फले सरकार की मंज़ूरी की आवश्यकता होगी।

इस बीच एंड्रॉइड पर Remove China Apps के पास लगभग 180,000 रिव्यू में से 5 स्टार रेटिंग में 4.9 की रेटिंग भी है, जो ज़ाहिर करती है कि लोगों के बीच भी इसकी लोकप्रियता कितनी तेज़ी से बढ़ रही है।

आपको बता दें यह ऐप दावा करता है कि यह मार्केट रीसर्च के आधार पर यह किसी ऐप के मूल देश की पहचान कर सकता है, लेकिन यह परिणाम की सटीकता की गारंटी नहीं देता। साथ ही यह उपयोगकर्ताओं को चीन आधारित ऐप को हटाने का विकल्प भी प्रदान करता है।

इस बीच दिलचस्प बात एक और है, असल में अपनी इतनी तेज़ी से बढ़ती लोकप्रियता के बावजूद, ऐप की पृष्ठभूमि गुप्त रखी गयी है। कंपनी की वेबसाइट भी एक साधारण WordPress आधारित साइट है और Remove China Apps को अपने पहले प्रोडक्ट के रूप में बताती है।

इस बीच यह भी स्पष्ट नहीं है कि डेवलपर “चीन आधारित ऐप्स” को कैसे परिभाषित करता है। उदाहरण के लिए, क्या विदेशों में चीनी द्वारा विकसित किए गए ऐप को भी यह चीन का ऐप मानता है या नहीं?

दरसल TechCrunch की एक रिपोर्ट के अनुसार एक उपयोगकर्ता ने अमेरिका की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग Zoom को भी चीन की ऐप के रूप में फ़्लैग होते पाया। दरसल Zoom के फ़ाउंडर Eric Yuan असल में चीन में पैदा हुए अमेरिकी नागरिक हैं,  तो क्या Zoom भी एक चीन का ऐप बन जाता है? और इतना ही नहीं बल्कि यह कई ऐप्स का पता लगाने में भी ग़लतियाँ करता है जैसे चीनी ऐप्स जो स्मार्टफोन के साथ बंडल में इंस्टॉल आते हैं।