लीजिए! एक और इतिहास लिख दिया गया है। SpaceX अब दुनिया के इतिहास में पहली ऐसी प्राइवेट कम्पनी बन गयी है, जिसनें सफलतापूर्वक मानव अंतरिक्ष मिशन का लॉंच किया।

हालाँकि कम्पनी को यह सफ़लता इसके दूसरे प्रयास में मिली, क्योंकि पहले प्रयास के दौरान ख़राब मौसम (बादलों के बीच बिजली कड़कना आदि) के चलते लॉंच को टाल दिया गया था।

आपको बता दें इस लॉन्च के 9 मिनट के भीतर ही दोनों अंतरिक्ष यात्री ऑर्बिट में पहुँच गए। आपको बता दें अब यह अंतरिक्ष यात्री अब अंतरिक्ष यान पर ड्रेको थ्रस्टर्स का उपयोग करके International Space Station की ओर बढ़ते नज़र आएँगें, जहाँ पहुंचने में उन्हें कुल 19 घंटे का समय लगेगा।

यह अंतरिक्ष यात्री Crew Dragon अंतरिक्ष यान को ISS के लिए रवाना करेंगे। इसके बाद वे Crew Dragon की वापसी प्रणालियों का उपयोग करते हुए वापस धरती पर लौट आएँगें, इस प्रकार लॉन्च और वापसी दोनों का परीक्षण भी हो जाएगा।

दरसल Demo 2 मिशन का सफल लॉंच NASA के Commercial Crew Program के तहत फ़्लोरिडा स्थित सबसे प्रसिद्ध Launch Complex, Kennedy Space Center से हुआ। आपको बता दें NASA के Bob Behnken और Doug Hurley नामक दो अंतरिक्ष यात्रियों ने SpaceX के साथ मिलकर इतिहास रचा।

वहीं वैज्ञानिक उपलब्धियों के संदर्भ में बात करें तो SpaceX ने जहाँ Falcon 9 को वापस से इस्तेमाल करने की बात एक बार फिर से प्रमाणित की, वहीं कंपनी ने Boeing को हरा कर NASA के इस प्रोग्राम का कॉंट्रैक्ट हासिल किया।

और अब SpaceX और NASA की टीमें इस मिशन से जुड़ें सभी आँकड़ों की समीक्षा करेंगी। और समीक्षा करने के बाद NASA के अंतरिक्ष यात्री Victor Glover, Mike Hopkins, Shannon Walker और JAXA, , Soichi Noguchi को पहले छः महीने के Dragon के मिशन, Crew-1 की कमान सौंपी जाएगी।

यह मिशन कई कारणों से ऐतिहासिक है। सबसे पहले तो इसने मानव लॉन्च क्षमताओं में अमेरिका को वापस आनें में मदद की, जिसकी तलाश देश 2011 के बाद से कर रहा था। दरसल अब तक दुनिया की सबसे सबसे उन्नत अंतरिक्ष एजेंसी NASA को अंतरिक्ष यात्रियों को लॉन्च करने के लिए रूस के Soyez रॉकेटों पर निर्भर रहना पड़ रहा था।

आपको बता दें SpaceX ने मौजूदा चरण में पहुंचने के लिए अब तक क़रीब 700 टेस्टिंग की थीं। और अब कम्पनी ने इस लॉंच के साथ Crew Dragon की इन-फ्लाइट लॉन्च एस्केप क्षमता का प्रदर्शन करने में भी कामयाब रही है।

इस क़दम को हम अंतरिक्ष की ओर दुनिया के एक नए रूख की शुरुआत के रूप में भी देख सकतें हैं, जिसमें बेशक SpaceX ने अहम रोल अदा किया है।