देश के आईटी जगत का जाना माना नाम Accenture आज सुर्ख़ियों में है और कारण है कंपनी द्वारा अहमदाबाद स्थित AI स्टार्टअप, Byte Prophecy का अधिग्रहण करना।

जी हाँ! आपको बता दें Byte Prophecy ने एक अत्यधिक उन्नत एंटरप्राइज सोल्यूशन विकसित किया है, जो KPI मेट्रिक्स पर आधारित AI संचालित इनसाइट्स और डेटा एनालिटिक्स सुविधा प्रदान करता है।

इस अधिग्रहण के तहत Byte Prophecy के 50 से अधिक डेटा विज्ञान इंजीनियर्स अब Accenture की Applied Intelligence यूनिट में शामिल हो जायेंगें। The Tech Portal को भेजे एक बयान में Accenture ने कहा;

“यह कदम मौजूदा कंसल्टिंग और टेक्नोलॉजी क्षमताओं को बेहतर बनाते हुए डेटा फ़ाउंडेशन और उन्नत एनालिटिक्स जैसे क्षेत्रों में ग्राहकों की मदद करेगा।”

इस बीच आपको बता दें इस अधिग्रहण की कीमतों को लेकर किसी भी प्रकार का कोई खुलासा नहीं किया गया है।

दिलचस्प यह है कि Byte Prophecy के साथ Accenture का जुड़ाव कोई नया नहीं है। 2018 के बाद से कंपनी Accenture Ventures प्रोग्राम का एक हिस्सा रही है और Accenture के अनुसार, एडवांस्ड डेटा और एनालिटिक्स प्रोजेक्ट्स पर Accenture और इसके एशिया पैसिफिक के क्लाइंट्स के साथ इस कंपनी ने सहयोग और इनोवेशन आदि को लेकर काफी काम किया है।

Accenture की चीफ एनालिटिक ऑफिसर और Applied Intelligence की वैश्विक नेतृव की जिम्मेदार, Athina Kanioura ने कहा;

“हमारी टीम पहले ही पिछले दो सालों से Byte Prophecy  के साथ काम कर रही है, और एक साथ मिलकर हमनें ग्राहकों को मजबूत डेटा नींव बनाने में भी है जो AI के एक सफल इस्तेमाल का सबूत भी है।”

व्यवसायों के लिए Byte Prophecy के फ्लैगशिप समाधान ‘Monitor First’ के नाम से जाना जाता है। यह उत्पाद असल में कई ऐप्स का एक व्यापक सूट है, जो मुख्य रूप से उद्यमों को एक ही मंच पर कई तरह के रिजल्ट और अलग अलग KPI के प्रबंधन में मदद करता है।

इसके साथ ही इसके उत्पाद में “डेटा ब्रिज और डेटा लैंड” है, जो डेटा की गुणवत्ता, स्थिरता, डेटा की परिभाषाओं और कई प्रणालियों में व्यावसायिक नियमों को मान्य बनाता है। साथ ही इसमें KPI Store भी है, जो  1000 से अधिक KPIs की बढ़ती लाइब्रेरी के रूप में कई उद्योगों के लिए विभिन्न आयामों पर स्वचालित गणना करता है।

दरसल यह दोनों सुविधाओं को MonitoFirst उत्पाद के जरिये आसान इंटरफ़ेस का उपयोग करके प्रबंधन के लिए इस्तेमाल किया जाता है। Byte Prophecy के अनुसार बिज़नेस एंड पर इसके उत्पाद के लिए किसी डेटा साइंटिस्ट की जरूरत नहीं पड़ती, कोई भी सामान्य उपयोगकर्ता सिंगल क्लिक में इनसाइट्स प्राप्त कर सकता है।

Byte Prophecy  के सह संस्थापक मृगांक पारिख ने कहा,

“Accenture Applied Intelligence का हिस्सा बन कर हमें संयुक्त रूप से मजबूत उत्पादों के निर्माण और उभरते बाजारों में अपनी सेवाओं का विस्तार करने में मदद मिलेगी।”

लेकिन यह तो साफ़ है कि यह अधिग्रहण Accenture के लिए भी काफी महत्वपूर्ण होगा क्योंकि एक आईटी कंसल्टिंग कंपनी के रूप में वैश्विक रूप से एक बेहतर और अलग तरह की डिजिटल सुविधाएं और स्वचालित समाधानों क्लाइंट्स को आकर्षित कर पायेंगें।

दरसल कुछ समय पहले भी इसी तरह के अधिग्रहण Accenture के मुख प्रतिद्वंदियों Infosys और TCS द्वारा भी किये जाते रहें हैं।