WhatsApp के लिए मुश्किलें एक बार फिर से बढती नजर आ रहीं हैं। दरसल भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग WhatsApp के खिलाफ दायर शिकायत की जाँच शुरू की है, जिसमें प्लेटफार्म पर अपनी पेमेंट सेवा के लिए देश में अपनी मजबूत स्थिति का गलत फायदा उठाने की बात कहीं गयी है।

यह खबर Reuters की एक रिपोर्ट के जरिये सामनें आई है, जिसको मामलें के जानकार सूत्रों का हवाला देते हुए प्रकाशित किया गया है।

यह शिकायत WhatsApp की UPI समर्थित डिजिटल भुगतान सेवा Whatsapp Pay को लेकर की गयी है, वही Whatsapp Pay जो काफी समय से सुर्ख़ियों में बना हुआ है। इसमें शिकायतकर्ता ने WhatsApp पर अपनी मजबूत सोशल नेटवर्किंग पकड़ का इस्तेमाल करते हुए उपयोगकर्ताओं के बीच पेमेंट सेवा को काफी तेजी से फैलानें का आरोप लगाया है।

आपको बता दें WhatsApp भारत में अपनी भुगतान सेवा का परीक्षण बीते दो साल से कर रहा है। लेकिन विनियामक की सीमित मंजूरी के कारण 2018 से कंपनी ने भारत में अपने 400 मिलियन उपयोगकर्ताओं में से केवल 1 मिलियन के लिए ही पेमेंट सेवाओं को रोल आउट करते हुए टेस्टिंग करना शुरू किया है।

इस बीच काफी महीनों से WhatsApp पर मालिकाना हक रखने वाली Facebook भारत में इस दिशा में मंजूरी पानें के प्रयास कर रही है, लेकिन अभी तक बहुत अधिक सफलता नहीं मिल सकी है। आपको बता दें इस मंजूरी में कंपनी के लिए सबसे बड़ी अड़चन भारत का नया डेटा स्थानीयकरण कानून बन रहा है, जिसको लेकर Facebook या WhatsApp बिल्कुल भी सहमत होते नजर नहीं आ रहें हैं।

इस बीच रिपोर्ट के अनुसार भारत का CCI आरोपों की व्यापक जांच के लिए अपनी जांच शाखा को आदेश दे सकता है, और अगर इसमें कोई पुख्ता आधार नहीं मिल तो इस शिकायत को खारिच भी किया जा सकता है।

फिल्जल तो सूत्रों की मानें तो मामला अभी प्रारंभिक चरण में ही है, और CCI के वरिष्ठ सदस्य इसकी समीक्षा कर रहे हैं, लेकिन अब तक इसको लेकर कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।

आपको बता दें कि Whatsapp Pay नामक यह UPI आधारित पेमेंट सेवा असल में मूल WhatsApp पर ही रोल आउट की जायेगी।

जाहिर है इससे यह सुविधा एक ही झटके में करीब सभी 400 मिलियन उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध हो जायेगी और इससे पहले से मौजूदा डिजिटल पेमेंट क्षेत्र के अन्य खिलाड़ियों को कड़ी टक्कर मिलती नजर आएगी।

आपको बता दें भारत में पहले ही से डिजिटल पेमेंट बाजार एक बड़ा स्वरुप ले चूका है, जिसमें Paytm, Google Pay, PhonePe जैसे कई बड़े नाम शामिल हैं, लेकिन इसके बाद भी WhatsApp Pay में इन सभी को चुनौती देने की भरपूर क्षमता नजर आती है।